ढाणी मोहब्बतपुर में 4, सातरोड कलां में 2 और टिब्बा दानाशेर में एक संक्रमित

हिसार. शनिवार का दिन हिसार के लिए कोरोना संकट वाला साबित हुआ। पहली बार 24 घंटे में 7 कोरोना पॉजिटिव रोगी सामने आने से जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया। रोगियों का आंकड़ा बढ़कर 12 से 19 पहुंच गया है। 10 मई को फैमिली के साथ मुंबई से बड़ी सातरोड लौटा 46 वर्षीय ट्रांसपोर्टर और 54 वर्षीय रिश्तेदार चालक भी कोरोना की चपेट में आ गया। इससे पूर्व 12 मई को ट्रांसपोर्टर की पत्नी व बेटा कोरोना पॉजिटिव मिलने पर अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में दाखिल हैं।

13 दिनों में उक्त दोनों भी कोरोना से नहीं बच सके। वहीं, शहर के टिब्बा दानाशेर में मुंबई से लौटा 26 वर्षीय युवक है। इधर, दिल्ली के रोहिणी इलाके से ढाणी मोहब्बतपुर स्थित ससुराल में आए व्यापारी, उसका बेटा, पत्नी व मां कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। 21 मई को दिल्ली से हिसार आए थे। यहां उन्होंने अपनी स्वास्थ्य जांच करवाकर सैंपल दिए थे।

ससुराल में प्रवेश करने की बजाए मोहब्बतपुर धाम में ठहरे थे। एनआरसीई लैब से इनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में दाखिल करवा दिया है। व्यापारी ने बताया कि अपना काम तो फोन से चलता है। किसी से मिलना-जुलना तक नहीं होता। अपनी गाड़ी से हिसार आए थे। सिविल अस्पताल के पास पेट्रोल पंप पर तेल डलवाया था मगर किसी से सीधे कांटेक्ट में नहीं थे। ऐसे में अब ढाणी मोहब्बतपुर इलाके को कंटेनमेंट जोन व इसके इर्द-गिर्द बफर जोन घोषित करके एक्टिव सर्विलांस शुरू किया जाएगा। इनके अलावा 151 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। 2 केस मिलने पर बड़ी सातरोड एरिया को स्वास्थ्य विभाग ने सेनिटाइज करवाकर डोर टू डोर सर्वे व सैंपलिंग करवाएगा।

कोविड सैंपल क्योस्क पहुंचे

सिविल अस्पताल में 2 कोविड सैंपल क्योस्क आए हैं। इन क्योस्क पर डायरेक्टरेट ऑफ टेक्निकल एजुकेशन हरियाणा पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज चंडीगढ़ लिखा है। अभी ओपीडी की खिड़की अस्पताल परिसर की तरफ खोलकर अंदर से डॉक्टर सैंपल लेते थे।

इन क्योस्क में सुरक्षित सैंपलिंग होगी। संक्रमण का खतरा भी नहीं होगा। इन क्योस्क को सही जगह स्थापित किया जाएगा ताकि गर्मी में सैंपल लेने वाले डॉक्टर व एलटी को परेशानी न हो।

तीन टीमों ने सैंपलिंग की
चौधरीवास वास के एक नर्सिंग स्टाफ की अग्रोहा मेडिल कॉलेज में सीबीनॉट मशीन में सैंपल जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी मगर एनआरसीई लैब में जांच पर रिपोर्ट निगेटिव आई थी। इसका पुन: सैंपल लेकर लैब में जांच करवाई तो रिपोर्ट फिर पॉजिटिव आई।

डॉ. रवि चौहान, एलटी राकेश की टीम ने सर्वोदय अस्पताल जाकर 15 कर्मियों के सैंपल लिए। डॉ. बंसीलाल, एलटी वेदव्रत और एलटी दिनेश की टीम ने सिक्योरिटी गार्ड के संपर्क में आए 9, इसके भाई के संपर्क में आए 13 लोगों के सैंपल लिए। इधर रात 8 बजे तक फ्लू क्लिनिक में 122 लोगों के सैंपल लिए जा चुके थे।