मुंदसा गांव में बुजुर्ग किसान की हत्या, खेत में बने कमरे में सुबह मिला धर्मपाल का शव

बहादुरगढ़. क्षेत्र के मुंदसा गांव में एक बुजुर्ग किसान की दौड़ा दौड़ा कर पीटकर हत्या कर दी गई। उसके शरीर पर कई दर्जन चोटों के निशान भी मिले। बुजुर्गों का शव उसके ही खेत में बने कमरे में चारपाई के नीचे पड़ा मिला। पुलिस ने अब इस मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। शुक्रवार को पोस्टमार्टम करके पुलिस ने शव परिजनों के हवाले कर दिया। हत्या का यह मामला शुक्रवार सुबह तब सामने आया जब मुंदसा गांव निवासी युवक पवन अपने चाचा धर्मपाल को खेतों में न देख उसके कमरे में देखने गया तो धर्मपाल का शव चारपाई के नीचे पड़ा हुआ था और शरीर पर एक भी कपड़ा मौजूद नहीं था। साथ ही शरीर पर कई दर्जन चोटों के निशान थे तब इसकी सूचना परिवार के लोगों को दी। जानकारी मिलने पर साल्हावास थाने की टीम भी मौके पर पहुंची और शव को सिविल अस्पताल ले आई।

यहां सिविल अस्पताल में धर्मपाल के भाई नरेश ने बताया कि धर्मपाल अविवाहित था और खेत में बने कमरे में ही रहता था। खेती-बाड़ी करके ही उसका समय पास होता था। नरेश के अनुसार वह हमेशा की तरह धर्मपाल को गुरुवार रात 8 बजे रात का भोजन देने गया था और वापस आ गया था सुबह भतीजे पवन ने उसका शव कमरे में पड़ा देखा। परिवार के लोगों ने दावा किया कि धर्मपाल की किसी से कोई रंजिश नहीं थी। हालांकि वह शराब पीने का शौकीन था, लेकिन इस बात की भी कोई सूचना नहीं है। संभावना जताई जा रही है कि शराब पीने के दौरान उसका किसी से झगड़ा हुआ होगा।

2 किले तक खून के छींटे के निशान मिले :

जांच में पता चला कि जहां खेत में कमरा बना हुआ था उससे 2 किले दूर ट्यूबवेल के पास से धर्मपाल को कमरे तक लाया गया। इसके निशान खेत में देखे गए साथ ही खून के छींटे भी कितनी दूरी तक जगह-जगह दिखाई दिए। तब ऐसा लगता है कि धर्मपाल को अज्ञात लोगों ने बुरी तरीके से दौड़ा-दौड़ा कर पीटा है और हत्या करने के बाद शव को उसी के कमरे में लाकर रख दिया। ट्यूबवेल के पास शराब पी गई है। खाली बोतल और गिलास मौके पर पड़े मिले हैं। परिवार वालों के अनुसार धर्मपाल के नाम संपत्ति के नाम पर एक किला जमीन है।

^धर्मपाल का मामला पूरी तरीके से ब्लाइंड मर्डर है। इसकी तफ्तीश के लिए टीम का गठन कर दिया गया है। कहीं न कहीं इस मामले में उन लोगों का हाथ हो सकता है जो धर्मपाल को जानता है। फिलहाल जांच जारी है।
सुरेश कुमार हुड्डा, थाना प्रभारी सालहवास