12 बसों में 399 प्रवासी श्रमिक यूपी के मुरादाबाद व इटावा भेजे

बहादुरगढ़. 19 वैश्विक महामारी के मद्देनजर चल रहे लॉकडाउन में प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह जिलों में भेजा जा रहा है। गुरूवार को बहादुरगढ़ उपमंडल मुख्यालय से 12 रोडवेज बसों में 399 प्रवासी श्रमिकों को उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद व इटावा में भेजा गया। एसडीएम तरूण पावरिया की देखरेख में सभी प्रवासीश्रमिकों के स्वास्थ्य की जांच की गई और उसके बाद रोडवेज बसों से उन्हें गंतव्य की ओर रवाना किया गया। एसडीएम ने बताया कि बहादुरगढ़ क्षेत्र से 7 बसों में 232 प्रवासी श्रमिकों को यूपी के मुरादाबाद शहर व 5 रोडवेज बसों में 167 प्रवासी श्रमिकों को इटावा भेजा गया है। उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन की ओर से प्रवासी श्रमिकों को भेजने के लिए नियुक्त नोडल अधिकारी एवं सीटीएम डा.सुभिता ढाका द्वारा निर्धारित किए गए शेड््यूल अनुसार ही प्रवासी श्रमिकों को मास्क, पानी की बोतल व बिस्कुट पैकेट देते हुए निशुल्क यात्रा के साथ घर भेजा जा रहा है।
पंजीकरण करवाए श्रमिकाें काे ही भेजा : सिटीएम
प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह जिलों में भेजने के लिए नियुक्त प्रशासन की नोडल अधिकारी एवं सिटीएम डाॅ. सुभिता ढाका ने प्रवासी श्रमिकों को धैर्य व संयम का परिचय देने की अपील की। उन्होंने कहा कि बहादुरगढ़, झज्जर, बेरी, बादली उपमंडल के तहत अभी जिन प्रवासी श्रमिकों द्वारा पंजीकरण करवाया गया है उन्हें भेजने की व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि झज्जर जिला के प्रवासी श्रमिकों को व्यवस्थित ढंग से सुरक्षित उनके गृह जिलों में भेजा जाएगा। कोई भी प्रवासी श्रमिक अपने घर जाने के लिए जल्दबाजी में पैदल अथवा साइकिल आदि से न निकलें। हर प्रवासी श्रमिक को प्रशासन का पूरा सहयोग है और निर्धारित शेड्यूल के तहत ट्रेन व बसों के माध्यम से निशुल्क उन्हें गंतव्य के लिए रवाना किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार व प्रशासन की ओर से विशेष श्रमिक ट्रेन व बस के माध्यम से प्रवासी श्रमिकों को निरंतर भेजा जा रहा है किंतु यदि कोई प्रवासी श्रमिक स्वयं अपने वाहन से भी घर जाना चाहते हैं तो झज्जर जिला प्रशासन के हेल्पलाइन नंबर 01251-253118 पर सूचित करें। डा.ढाका ने कहा कि स्वेच्छा से अपने वाहनों में जाने वाले प्रवासी श्रमिकों के स्वास्थ्य की जांच करवाते हुए उन्हें तुरंत मूमेंट पास जिला प्रशासन की ओर से जारी कर सुरक्षित घर भेज दिया जाएगा।