हिसार के युवक की 8 बार हुई जांच, शुरू और आखिरी की 3-3 रिपोर्ट पॉजिटिव, बीच में 2 बार रही निगेटिव

  • 27 दिनों से भर्ती बिना लक्षण वाला 29 साल का कोरोना पॉजिटिव बना नई चुनौती

पानीपत. दड़ौली के 29 वर्षीय युवक की आठवीं रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। पीड़ित 23 अप्रैल को गाजियाबाद से हिसार लौटा था। संदिग्ध मानते हुए 24 अप्रैल को उसे अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में भेज दिया गया था। 25 अप्रैल को उसकी पहली कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। उस दिन से आज तक वहीं पर उपचाराधीन है। मेडिकल कॉलेज के डायरेक्टर डॉ. गोपाल सिंघल ने बताया कि हरियाणा सहित देश में काफी मरीज ऐसे हैं, जोकि 30 से अधिक दिन अस्पताल में दाखिल रहकर कोरोना को हराकर घर लौटे हैं।

किसी के शरीर में जल्दी एंटी बॉडीज बनने लगती हैं तो किसी के देर से। दड़ौली पेशेंट के एंटी बॉडी बन रही है, लेकिन अभी पूरी तरह बनने में समय लग रहा है। ठीक होने में 36 से 45 दिन तक लग सकते हैं। पीजीआई रोहतक में कोविड स्टेट नोडल ऑफिसर डॉ. ध्रूव चौधरी से संपर्क किया गया। उनके पास रोगी की संपूर्ण मेडिकल-ट्रीटमेंट हिस्ट्री रिपोर्ट भेजी है। अभी रोगी में लक्षण नहीं हैं। ऐसे में बिना लक्षण कोई दवा नहीं दे सकते। कोरोना का वैसे भी कोई इलाज नहीं है। लक्षण अनुसार दवा चलती है। यह रोगी के शरीर पर निर्भर करता है कि उसकी एंटी बॉडीज कितनी जल्दी बनकर कोरोना वायरस से लड़ती हैं।

कब-कब क्या रही रिपोर्ट

25 अप्रैल को रिपोर्ट पहली पॉजिटिव।
30 अप्रैल व 6 मई को भी पॉजिटिव।
10 व 14 मई को रिपोर्ट निगेटिव थी।
छठी, से आठवीं तक रिपोर्ट पॉजिटिव।