सूचना पर दस मिनट में ही पहुंची पुलिस, पीसीआर में ही दिया बच्ची को जन्म

  • फोन के बाद भी नहीं पहुंची एंबुलेंस तो मांगी पुलिस से मदद
  • सूचना पर दस मिनट में ही पहुंची पुलिस, पीसीआर में ही दिया बच्ची को जन्म

रेवाड़ी. कोरोना के इस संक्रमण काल में खाकी आम लोगों के लिए मदद के मामले में नजीर पेश कर रही है। गुरुवार को भी ऐसा ही नजारा जिला की धारूहेड़ा पुलिस ने पेश किया जहां से पर प्रसव पीड़ा से परेशान एक गर्भवती को लेने के लिए एंबुलेंस नहीं पहुंची तो पीड़िता के पति ने पुलिस से मदद मांगी। इसके बाद पीड़िता को जब पुलिस कर्मचारी अस्पताल लेकर जा रहे थे तभी महिला ने पीसीआर में ही बच्ची को जन्म दे दिया। इसके बाद पुलिस ने महिला को अस्पताल पहुंचाया जहां दोनों को भर्ती कर लिया गया। फिलहाल जच्चा-बच्चा दोनों ही स्वस्थ बताए गए हैं।
पड़ोस की महिला ने कराई डिलीवरी : जिला सिरसा के गांव अजीरा निवासी रविंद्र कुमार गांव महेश्वरी स्थित गोयल कॉलोनी में अपनी पत्नी के साथ रह रहे थे। उनकी पत्नी को डिलीवरी होनी थी जिसके बाद गुरुवार शाम को करीब चार बजे प्रसव पीड़ा होने के बाद उन्होंने एंबुलेंस को फोन किया। कई बार फोन करने के बाद भी सरकारी एंबुलेंस के कर्मचारी ने अपने आप को कापड़ीवास में एक अन्य केस लेने जाना बताया। काफी समय बीतने के बाद भी जब कोई समाधान नहीं निकला तो रविंद्र कुमार ने इसकी सूचना धारूहेड़ा थाना पुलिस को देकर मदद मांगी। पुलिस अधिकारियों को इसकी जानकारी मिली तो उन्होंने भी इसे गंभीरता से लेते हुए एसएचओ मोबाइल पीसीआर को एएसआई महेंद्र सिंह व चालक सतेंद्र कुमार को मौके के लिए रवाना कर दिया। करीब दस मिनट बाद पुलिस की पीसीआर बताए स्थान पर पहुंच गई जिसके बाद वहा देखा तो कि परिजन बड़ी ही बेसब्री से इसका इंतजार कर रहे थे। उन्होंने तुरंत महिला को पीसीआर में बैठाया और अस्पताल के लिए रवाना हो गए। जब पीसीआर पंचमुखी हनुमान मंदिर के समीप पहुंची तो महिला को प्रसव पीड़ा काफी बढ़ गई जिसके बाद उनके साथ आई महिला ने पुलिस की कार में प्रसव कराया। इस दौरान महिला ने एक बच्ची को जन्म दिया। तत्पश्चात पुलिस कर्मियों ने जच्चा-बच्चा दोनों को धारूहेड़ा पीएचसी में पहुंचाया जहां दोनों स्वस्थ है।