सीसीटीवी कैमरों का सर्वर अपडेट नहीं, पुलिस कंट्रोल रूम को नहीं मिल रही रिकार्डिंग

रोहतक. शहर के चौक चौराहों पर सुरक्षा को लेकर लगाए गए सीसीटीवी कैमरे पिछले कुछ दिनाें से अब सिर्फ दिखावे के लिए रह गए है। करीब 20 दिन से शहर के विभिन्न राेड पर लगे 90 सीसीटीवी कैमरों में से करीब 83 कैमरों का रिकार्ड कंट्रोल रूम तक नहीं पहुंच पा रहा है। इसका कारण सर्वर सिस्टम का अपडेट न होना बताया जा रहा है। पुलिस कंट्रोल रूम में इन सीसीटीवी कैमरों का कंट्रोल रूम बनाया गया है। जहां पुलिस की एक टीम सीसीटीवी कैमरों की सहायता से शहर की हर गतिविधि पर नजर रखती है। पुलिस कंट्रोल रूम से ही शहर में लगे सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से ही यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों का चालान किया जाता है। कैमरों के रख रखाव की जिम्मेदारी नगर निगम की है। लेकिन निगम को अभी तक इनके खराब होने की ही अपडेट नहीं है। वहीं सर्वर अपडेट न हाेने की सीसीटीवी कैमरे सही तरीके से काम नहीं कर पा रहे। ऐसे में पुलिस के सामने ट्रैफिक कंट्रोल से लेकर क्राइम कंट्रोल तक में दिक्कत आ रही है।
संस्थानाओं और दुकानों के कैमरे ही कर रहे पुलिस की मदद
शहर में आपराधिक वारदात होने के बाद पुलिस टीम कंट्रोल रूम में चौक चौराहों पर लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज देखकर आरोपियों तक पहुंचने में काफी सहायता मिलती थी। मगर अब सीसीटीवी कैमरों की रिकार्डिंग कंट्रोल रूम में उपलब्ध न होने के कारण पुलिस को वहां से भी कोई सहायता नहीं मिल पा रही। अब पुलिस को घटनास्थल के आसपास के एरिया में दुकान और मकानों में लगे सीसीटीवी कैमरों का सहारा लेना पड़ रहा है।

कंट्रोल रूम का स्टाफ कर रहा फील्ड ड्यूटी
शहर में लगे 90 सीसीटीवी कैमरों में से 7 सीसीटीवी कैमरों की कभी- कभी रिकार्डिंग उपलब्ध हो पा रही है। सर्वर अपडेट न होने की वजह अन्य सीसीटीवी कैमरों की रिकार्डिंग स्क्रीन पर नहीं दिखाई दे रही। ऐसे में अब पुलिस विभाग की ओर से सीसीटीवी कैमरों के लिए बनाए गए कंट्रोल रूम में तैनात स्टाफ को अब फिल्ड में उतरा दिया गया है। पहले पुलिस कंट्रोल रूम में सीसीटीवी कैमरों पर नजर रखने के लिए चार जवान तैनात किए गए थे। ये पुलिस कर्मी कंट्रोल रूम में बैठकर सीसीटीवी कैमरों की सहायता से पूरे शहर की गतिविधियों पर नजर रखते थे। साथ ही यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों का भी चालान करते थे।

शहर में लगे सीसीटीवी कैमरों का सर्वर अपडेट न होने और रिकार्डिंग न होने की उनके पास कोई सूचना नहीं है। इस संबंध में वे जल्द ही संबंधित अधिकारियो से जानकारी लेंगे। अगर ऐसा है तो सर्वर को जल्द ही अपडेट करवाया जाएगा।
-प्रदीप गोदारा, कमिश्नर नगर निगम रोहतक।

सीसीटीवी कैमरों बंद होने का मामला संज्ञान में आया है। इस संबंध में जानकारी जुटाकर संबंधित अधिकारियों से पत्राचार किया गया जाएगा। शहर में लगे सीसीटीवी कैमरे जल्द ही शुरू करवाए जाएंगे।
-गोरखपाल राणा, हेड क्वार्टर डीएसपी रोहतक।