जिले में फिर दिल्ली से आया कोरोना, सेक्टर दो की महिला और नया बांस के फायर ब्रिगेड कर्मी मिले पॉजिटिव

  • महिला का दिल्ली के अस्पताल में चल रहा था कैंसर का इलाज, दमकल कर्मी नारायणा सेंटर पर है तैनात, रोजाना करता था आवाजाही

रोहतक. काेराेना का खौफ एक बार फिर शहर में दिल्ली के रास्ते एंट्री कर गया है। सेक्टर-2 निवासी 34 वर्षीय महिला के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हुई है। वहीं सांपला के गांव नया बांस का 28 वर्षीय युवक भी संक्रमण का शिकार हुआ है। दोनों की ट्रेवल हिस्ट्री सीधे दिल्ली से जुड़ी है। सेक्टर-2 निवासी महिला का दिल्ली के एक निजी अस्पताल में कैंसर का इलाज चल रहा था। उसके वहीं पर संक्रमित होना जांच में सामने आ रहा है। वहीं नया बांस का युवक दिल्ली के नारायणा में फायर ब्रिगेड पर तैनात था। वो रोजाना गांव से दिल्ली अप-डाउन करता रहा है। काेरोना पॉजिटिव महिला का गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में दाखिल कराया गया है।

नया बांस के युवक को पीजीआई के कोविड अस्पताल में दाखिल कराया गया है। स्वास्थ्य विभाग ने महिला को जिले का केस मानते हुए जो नए आंकड़े जारी किए हैं उनमें अब जिले में काेरोना पॉजिटिव केसों की संख्या 13 हो गई है। वहीं दिल्ली कनेक्शन से जुड़ रहे मामलों की संख्या बढ़ने पर जिला प्रशासन की मुश्किलें बढ़ रही हैं।

सेक्टर दो में कैंसर पीड़ित महिला पॉजिटिव वहीं सेक्टर दो की निवासी कैंसर पीड़ित 34 वर्षीय महिला भी कोराेना पॉजिटिव मिली है। महिला का मेदांता अस्पताल से ब्रेस्ट कैंसर का इलाज चल रहा है। मूल रूप से महिला मोरखेड़ी की रहने वाली है। महिला अक्सर दिल्ली में कीमोथैरेपी लेने के लिए बालाजी अस्पताल में जाती थी। पहली बार 13 मई को दिल्ली गई, लेकिन रिपोर्ट 20 मई को पॉजिटिव आई है। अब यह महिला मेदांता अस्पताल में ही इलाज करवा रही है। वहीं सेक्टर दो में कंटेनमेंट जोन भी बना दिया गया है। इसके अलावा अब परिवार के सदस्यों जिनमें उनका 42 वर्षीय पति, 72 वर्षीय सास, 15 वर्षीय व 9 वर्षीय दोनों बेटों समेत 9 लोगों के सैंपल लिए गए हैं। अन्य 20 सैंपलों की जांच की जाएगी। इसकी प्रक्रिया अभी चल रही है। सेक्टर-2 के कंटेनमेंट जाेन में वार्ड नंबर 11 में लगने वाले सेक्टर दो केे 1811 नंबर मकान से 1803 तक और 1812 नंबर मकान से 1820 तक को कंटेनमेंट जोन में रखा गया है। कुछ इलाके को बफर जोन में शामिल किया है।

रोजाना अपडाउन करता था युवक:

गांव नया बांस का रहने वाला युवक 28 वर्ष है और वह दिल्ली के नारायणा में फायर ब्रिगेड में नौकरी करता है। पाबंदी के बाद भी युवक रोजाना दिल्ली से घर के लिए अप डाउन करता था। इसमें दो दिन से लक्षण बने हुए थे। अब बुधवार को ही युवक ने सांपला सीएससी में अपना टेस्ट करवाया। इसके बाद इसकी रिपोर्ट पॉजीटिव आई। इसे अब पीजीअाईएमएस में भर्ती करवाया गया है। युवक के घर में माता-पिता व पत्नी सहित छोटा भाई है। युवक की शादी अभी छह माह पहले ही हुई थी। इसकी पत्नी गर्भवती है। वहीं एहतियात के तौर पर अब स्वास्थ्य विभाग की टीम इनके परिवार के अलावा पड़ोस के लोगों की भी स्क्रीनिंग कर रही है। वहीं गुरुवार देर रात यहां पर भी कंटेनमेंट जोन बना दिया गया है। पूरे गांव में बफर जोन रहेगा। वहीं राजकीय उच्च विद्यालय के सामने टावर वाली गली में कंटेनमेंट जोन रहेगा। यानि सांपला से खरखौदा वाले रोड पर लगती गली में दो जगह पर नाका लगा दिया गया है।
जिले में गुरुवार तक 13 लोगों में काेरोना संक्रमण पाया गया है। सांपला के केस को रोहतक का माना जाएगा या नहीं। इस बारे में शुक्रवार को दिल्ली प्रशासन से बात करके स्पष्ट किया जा सकेगा। फिलहाल सेक्टर 2 की महिला और सांपला के व्यक्ति को कोरोना वायरस संक्रमण से पीड़ित पाया गया है। दोनों का इलाज चल रहा है।
– डॉ. सत्यवान, कोविड-19 जिला नोडल अधिकारी।

दिल्ली में इलाज करवाने जाने का मतलब है संक्रमण को निमंत्रण: दिल्ली में बड़े अस्पतालों के चक्कर में रोहतक वाले वहां इलाज करवाने के लिए जाते हैं, लेकिन इन दिनों दिल्ली में संक्रमण का ज्यादा खतरा है। 3 अप्रैल काे साईंदास काॅलाेनी की काेराेना पॉजिटिव महिला की दिल्ली में माैत हाे गई। वह इलाज करवाने गई थी। 22 व 23 अप्रैल काे ककराना के कैंसर मरीज व उनकी पत्नी में काेराेना की पुष्टि हुई। वे दिल्ली इलाज करवाने गए थे। 8 मई काे शिव काॅलाेनी की महिला भी संक्रमित निकली, वह अपने पति का कैंसर का इलाज करवाने दिल्ली गई थी। 14 मई काे महम की महिला निकली पाॅजिटिव। वह भी दिल्ली में इलाज करवाने गई थीं। जाे व्यक्ति 14 दिन से राेहतक में नहीं था, उसे राेहतक का केस नहीं माना था।