किडनी के बुजुर्ग मरीजों के अलावा 2 साल का बच्चा भी कोरोना को हराकर घर लौटा

बहादुरगढ़. जिले को 91 पॉजिटिव केस दे चुका कोविड-19 अब झज्जर जिले में ही दम तोड़ रहा है। यहां जिले में कोविड-19 से रिकवरी करने वाले की ग्रोथ अब 92 प्रतिशत पहुंच चुकी है। यही नहीं कोविड-19 को कैंसर और किडनी के बुजुर्ग मरीजों के अलावा डेढ़ से 2 साल तक के बच्चों ने भी हराया है। अब 91 में से 89 मरीज ठीक हो चुके हैं जिसमें कुछ मरीज पहले घर लौट चुके पांच की आज घर लौटने की संभवना है।
बहादुरगढ़ निवासी 70 साल के बुजुर्ग जो कैंसर से पीड़ित था उसे कोरोना पॉजिटिव हुआ और वह रोहतक पीजीआई में कैंसर को हराकर घर लौट चुका है। इसी प्रकार बुपनिया गांव निवासी 55 साल का अधेड़ भी किडनी की गंभीर रोग के बाद भी अपनी इच्छाशक्ति के बल पर कोविड-19 को हराकर घर लौट आया है। इस लड़ाई में बुजुर्ग ही नहीं बच्चों ने भी कोरोना को हराया है और दो से 3 साल तक के चार बच्चे जो झज्जर शहर, सुलोधा और बहादुरगढ़ निवासी है वे भी अब अस्पताल के बेड से उतरकर अपनी मां के आंचल में आ चुके हैं। वहीं झांसवा गांव निवासी दिल्ली पुलिस की जबान से संबंधित गांव के 9 लोगों के सैंपल भेजे गए थे उनकी रिपोर्ट भी गुरुवार को निगेटिव आ गई है।

^झज्जर जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों के स्वास्थ्य रिकवरी ग्रोथ अब 90 परसेंट से ऊपर हो चुकी है। महज 2 एक्टिव केस हमारे जिले में हैं। इसके लिए पूरी स्वास्थ्य विभाग की टीम दिन रात जुटी रही इसका परिणाम रहा कि लोग वापस अपने घर में लौट के आए। संक्रमण सिर्फ सब्जी मंडी तक ही सीमित रहा। आगे भी इसका फैलाव न हो इसकी पूरी कोशिश जारी है। झज्जर के लोग भी दूरी बनाकर रहे और मास्क का उपयोग करें।
डॉ. आरएस पूनिया, सीएमओ झज्जर

34 की सैंपल रिपोर्ट का इंतजार: जिले में 91 पॉजिटिव के सामने आ चुके हैं जिनमें से 89 की रिपोर्ट अब निगेटिव आ गई। जिले में अब तक 2 लोग के कोरोना वायरस से प्रभावित है। अब तक 3834 लोगों की करण टेस्ट किए गए हैं इनमें से 3708 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। 84 लोग रोहतक पीजीआई से ठीक हो कर घर वापसी कर चुके हैं। अब 34 सैंपल की रिपोर्ट का और इंतजार है।

स्वास्थ विभाग ने आरटीए से मांगी लिस्ट: यही नहीं रेंडम सैंपल को बढ़ाए जाने की दिशा में ही स्वास्थ्य विभाग ने झज्जर परिवहन विभाग के आरटीए से उन ट्रांसपोर्टरों की लिस्ट मांगी है जिनके ट्रकों का स्टाफ झज्जर में आता है या झज्जर से माल लेकर दूसरे शहर में जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग अब ऐसे ट्रक ड्राइवर और अन्य स्टाफ की भी सेंपलिंग करने जा रहा है

अब तक लिए जा चुके 1447 रेंडम सैंपल: झज्जर जिले में 91 कोरोना पॉजिटिव केस सामने आए उसका सबसे बड़ा कारण झज्जर बहादुरगढ़ की सब्जी मंडी में रेंडम सैंपल लेना ही रहा। यहां से 1447 रेंडम सैंपल लिए गए इनमें से 80 से ज्यादा पॉजिटिव केस सामने आए।
झुग्गी झोपड़ियों में रहने वालों का सैंपल शुरू
कोविड-19 के मामलों को जिले में और आगे बढ़ने से रोकने के लिए जिला स्वास्थ्य विभाग अब रेंडम सैंपल की चैन और बढ़ाए जाने की तैयारी में है। इसके तहत अब जिले भर की झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले लोगों का सैंपल लिए जाना शुरू कर दिया गया है। इसके अलावा सभी चिकित्सा संस्थानों और विभिन्न शहरों में जाने वाले डेली पैसेंजर के सैंपल टेस्ट लिए जा रहे हैं। इसके लिए अलग-अलग टीमों का गठन किया गया है।