सरकारी कार्यालयाें में राेस्टर व शिफ्टाें में शुरू हुआ काम, 18 हजार कर्मचारी फिर ड्यूटी पर

  • कुछ विभागाें में कर्मियाें काे एक दिन छाेड़कर अाने काे कहा ताे कुछ को सुबह- शाम अलग-अलग आने को कहा

सोनीपत. लॉकडाउन में 4.0 में सरकारी कार्यालयों की व्यवस्था काे सुचारू रूप से चलाने के लिए राेस्टर अाैर शिफ्टाें में कार्य कराने का अादेश दिए हैं। इसके तहत विभागाें में कार्य शुरू किया गया है। कुछ विभागाें में कर्मियाें काे एक दिन छाेड़कर अाने काे कहा जा रहा है ताे कुछ विभागाें में सुबह अाैर शाम में अलग-अलग कर्मियाें की ड्यूटी लगाई गई है। जिससे विभागाें के कामकाज भी प्रभावित नहीं हाे रहा है अाैर साेशल डिस्टेंसिंग भी कायम है। बुधवार से कार्यालयों में कर्मचारी इसी आधार पर ड्यूटी पर पहुंचे।
जिला प्रशासन ने सरल केंद्र से लेकर कंट्राेल रूम तक कर्मियाें काे व्यवस्था देखने वाले अधिकारियाें से सामंजस्य बनाकर कार्य करने की हिदायत दी है। जिसके अनुरूप कार्य सही तरीके से चल रहा है। जिले में विभिन्न विभागाें में हजाराें कर्मचारी कार्यरत हैं। जिनकाे अब अलग-अलग दिनाें में कार्य करने के लिए बुलाया जा रहा है। कार्यालयाें में कम कर्मचारी हाेने के कारण साेशल डिस्टेंसिंग अपने अाप ही मेंटेन हाे रही है। क्याेंकि कुर्सियां खाली है। हटाकर उनमें दूरी बना दी गई है। जहां पर संभव है वहां पर एक से दाे कर्मियाें काे बैठाया जा रहा है।

जिलेभर में 18 हजार कर्मचारी : जिले के विभिन्न विभागाें में करीब 18 हजार कर्मचारी कार्यरत है। जिसमें करीब सात हजार कर्मचारी डीसी रेट अाैर विभिन्न माध्यमाें से एडहाक पर है। इसके अलावा कर्मचारी पक्के हैं, लेकिन इन सभी दफ्तराें काे अगर मिला दें ताे इतने लाेग काम के लिए भी नहीं अा रहे हैं। लाेगाें ने लाॅकडाउन काे बहुत सीरियसली लिया है। लाेगाें का कहना है कि जान रहेगी ताे काम फिर कर लिया जाएगा। इसलिए लाेग घर से बाहर नहीं िनकलना चाह रहे। बड़ी संख्या में लाेगाें के लाइसेंस की अवधि पूरी हाे गई है। लर्निंग से लाइसेंस बनवाना है, लेकिन काेई नहीं अा रहा है।

लघु सचिवालय परिसर में बने सरल केंद्र में टाेकन अाैर काम टाइम बजे तक है। यह टाइम खत्म हाे जाता था, लेकिन लाेगाें की भीड़ कम नहीं हाेती थी। उस सरल केंद्र में िगने चुने लाेग हाेते हैं। इससे कर्मियाें पर काम का दबाव भी नहीं है। जाे काम अा रहा है, उसे राेस्टर में काम करने वाले लाेग स्वत: ही निपटा रहे हैं। इसी तरह से अंत्याेदय भवन है, जहां पर दिनभर में अधिकतम 25 लाेगाें की विजिट हाे रही है। यहां पर सामान्य दिनाें में 150 लाेग अाते थे। इसी तरह से रजिस्ट्री कार्यालय, अारटीए कार्यालय, एसडीएम कार्यालय पटवारखाना अाैर अन्य स्थान शामिल है।