श्रीमाता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ने कहा-लॉकडाउन खत्म होने के बाद यात्रा फिर शुरू करने के लिए मानक संचालन प्रक्रिया की तैयारी

श्रीमाता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रमेश कुमार ने कहा है कि लॉकडाउन खत्म होने के बाद यात्रा फिर शुरू करने के लिए मानक संचालन प्रक्रिया तैयार की जा रही है। उन्होंने स्पष्ट किया कि वैष्णो देवी यात्रा केवल गृह मंत्रालय के निर्देश जारी होने के बाद ही शुरू होगी। श्री रमेश कुमार ने कोविड-19 के बाद पर्यटन और श्री वैष्णो देवी यात्रा के लिए भविष्य की राह विषय पर वीडियो कांफ्रेंस में यह बात कही।
हमारे संवाददाता ने खबर दी है कि श्री माता वैष्णो देवी बोर्ड भक्तों के लिए आनलाउन पंजीकरण की प्रक्रिया पर विचार कर रहा है। सुरक्षित दूरी का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए श्रद्धालुओं पर जीपीएस के जरिए नजर रखने की प्रणाली शुरू करने पर भी विचार किया जा रहा है। बोर्ड भवन के रास्ते में जगह-जगह थर्मल स्कैनिंग के लिए द्वार बनाने पर भी विचार कर रहा है।
सुरक्षित दूरी का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए फ्री डोरमेटरी में बिस्तरों की संख्या भी अस्थाई रूप से कम की जा रही है। केवल परिवार के सदस्यों और रिश्तेदारों को ही पेड लॉज इस्तेमाल करने की अनुमति होगी, ताकि संक्रमण को फैलने से रोका जा सके। शुरू में कुछ महीनों में सामान्य की तुलना में केवल 33 प्रतिशत यात्रियों को ही वैष्णो देवी यात्रा की अनुमति होगी। स्थिति में सुधार होने तक केवल कुछ पड़ोसी राज्यों के लोगों को ही यात्रा करने दी जाएगी।
फिलहाल वैष्णो देवी की यात्रा करने वाले भक्त न सिर्फ जम्मू कश्मीर की बल्कि पड़ोसी राज्यों की भी अर्थव्यवस्था में महत्वपूर्ण योगदान देते हैं।
लॉकडाउन के कारण करीब चार से पांच लाख लोग बेरोजगार हो गए हैं, जिससे रोजाना दस-बारह करोड़ रुपये का नुकसान हो रहा है।