शहर के मुख्य आईटीआई चौक पर जाम की समस्या होगी खत्म, पीडब्ल्यूडी जल्द बनाएगा 7 मीटर चौड़ा स्लिप वे, नहीं होंगे हादसे

  • आईटीआई ने अपनी जगह पर स्लिप वे बनाने के लिए पीडब्ल्यूडी को दी परमिशन, जल्द शुरू होगा काम

करनाल. शहर का मुख्य चौक आईटीआई पर रोजाना कई गांवों व सेक्टरों के हजारों की संख्या में लोग शहर में प्रवेश करते हैं। इसके कारण आईटीआई चौक पर लंबा जाम लगता है। जाम के कारण दिल्ली की ओर जाने वाले लोगों को हरी बत्ती का इंतजार करना पड़ता है। आईटीआई चौक पर जाम की समस्या को खत्म करने के लिए औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग की ओर से बाबू मूलचंद जैन राजकीय आईटीआई करनाल ने स्लिप वे बनाने की परमिशन दे दी है। पीडब्ल्यूडी की ओर से ये कार्य जल्द ही शुरू होने जा रहा है। 7 मीटर चौड़ा स्लिप वे आईटीआई चौक पर बनाया जाएगा। करीब 10 लाख रुपए पीडब्ल्यूडी की ओर से खर्च किए जाएंगे। जिससे दिल्ली की ओर जाने वाले लोगों को जाम में खड़ा नहीं रहना पड़ेगा, वे स्लिप से आसानी से दिल्ली की ओर जा सके। आईटीआई चौक पर जाम की समस्या से हजारों लोगों को निजात मिलेगी।

120.5 वर्ग मीटर जमीन की जगह अब 849 वर्ग मी. में बनेगा स्लिप वे
2017 में पहले आईटीआई करनाल की 120.5 वर्ग मीटर भूमि जो जनहित में लोक निर्माण हरियाणा (भवन व सड़कें) को स्लिप वे के लिए दी गई थी। जिन्हें संशोधित करते हुए 849 वर्ग मीटर स्लिप वे लोक निर्माण हरियाणा (भवन व सड़कें) के द्वारा बनाने की परमिशन दे दी है। इस क्षेत्र में आने वाली संस्थान की दीवार तोड़ने व पुन: निर्माण का खर्च पीडब्ल्यूडी स्वयं अपने बजट से वहन करेगा। इसके अलावा भूमि पर स्लिप वे के अलावा पीडब्ल्यूडी द्वारा कोई अन्य निर्माण कार्य नहीं किया जाएगा। जमीन पर मालिकाना हक बाबू मूलचंद जैन राजकीय आईटीआई करनाल का ही रहेगा।

चौक पर नहीं होंगे अब हादसे
स्लिप वे न बनने से चौक पर गाड़ियां आपस में भिड़ने से हादसे होते थे। रोड सेफ्टी की मीटिंग में कई बार तत्कालीन एडीसी अब डीसी निशांत कुमार यादव द्वारा स्लिप वे बनाने का मुद्दा उठाया गया था। स्लिप वे बनने से आईटीआई चौक पर हादसे कम होंगे।