शराब ठेके के साझीदार और वहां काम करने वाले नेपाली की हत्या, ठेके में लगी आग के बीच पड़े मिले शव

  • कैथल जिले के कलायत थाने के अंतर्गत आने वाले बालू गांव की घटना
  • रात में ठेके पर ही सोए हुए थे दोनों, दूसरे साझीदार का आरोप-पहले हत्या की फिर आग लगाई

कैथल. कैथल के बालू गांव में बुधवार और गुरुवार की दरमियानी रात को एक शराब ठेके के साझीदार व वहां काम करने वाले नेपाली की हत्या कर ठेके में आग लगा दी गई। दोनों के शव ठेके में लगी आग के बीच पड़े मिले। दमकल विभाग की गाड़ियों ने आग बुझाई। पुलिस ने शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया है और अज्ञात के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

शराब ठेके के दूसरे साझीदार सतपाल द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक उसका साझीदार ओमप्रकाश निवासी कुराड़ व एक नेपाली भगत बुधवार रात में ठेके पर ही सोए हुए थे। सतपाल का आरोप है कि अज्ञात हमलावर ने पहले इन दोनों की हत्या की और इसके बाद इनके शवों को ठेके के अंदर डालकर आग लगा दी।

वारदात बुधवार और गुरुवार की दरमियानी रात की है। आग लगने की सूचना पुलिस को दी गई। पुलिस व दमकल विभाग की टीम मौके पर पहुंची। दमकल विभाग की टीम ने आग पर काबू पाया और अंदर पड़े ओमप्रकाश और नेपाली भगत के शवों को बाहर निकाला। दोनों के शव जली हालत में थे।

कलायत थाना एसएचओ बिलासाराम का कहना है कि उन्होंने ठेकेदार सतपाल की शिकायत पर फिलहाल अज्ञात के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। दोनों के शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भिजवा दिया है, जिसके बाद ही खुलासा हो पाएगा कि हत्या की गई है या जलाया गया है।