लॉकडाउन में गांव जमाल का सीनियर सेकंडरी विद्यालय बना ई-स्कूल

  • प्राध्यापक डाॅ. सूर्यप्रकाश ने तैयार की विज्ञान संकाय की वेबसाइट, कक्षा 9 से 12 के सभी लैक्चर किए जाते हैं अपलोड

डबवाली. लॉकडाउन के चलते बच्चों को पढ़ाना स्कूलों के लिए एक स्किलफुल टास्क बन गया है, जिसे अमलीजामा पहनाने के लिए सरकार एवं स्कूलों द्वारा अनेक विकल्प अपनाए जा रहे हैं। इस समय बच्चों को प्रभावी ढंग से पढ़ाने के लिए राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय जमाल के विज्ञान संकाय ने सूचना प्रौद्योगिकी का सदुपयोग अलग ढंग से किया है।

जमाल के इस स्कूल ने विज्ञान संकाय की अपनी वेबसाइट तैयार की है, जिस पर विज्ञान से संबंधित सभी विषयों के बारे में जानकारी उपलब्ध है और सरकार द्वारा उपलब्ध कराए गए शैड्यूल के अनुसार कक्षा 9 से 12 के विद्यार्थियों के लिए विज्ञान के सभी संभव लैक्चर इसी विद्यालय के प्राध्यापकों द्वारा अपलोड किए जाते हैं। यह वेबसाइट जमाल स्कूल के ही जीव विज्ञान प्राध्यापक डाॅ. सूर्य प्रकाश शर्मा द्वारा डिजाइन की गई है।

शर्मा ने बताया कि जब लॉकडाउन शुरू हुआ, उस समय हमारे सामने बड़ी विकट समस्या थी कि हम एक ही जगह विज्ञान के सभी प्रकार के ई-कंटेंट कैसे उपलब्ध कराएं। इसी सोच को ध्यान में रखते हुए उन्होंने फैसला किया कि क्यों न विद्यालय के लिए एक वेबसाइट का निर्माण किया जाए, जिसमें सभी कंटेंट उपलब्ध हों। विद्यार्थी फोटो में लगे क्यूआर कोड को अपने स्मार्ट फोन से स्कैन कर वेबसाइट का अवलोकन कर सकते हैं। बता दें कि प्राध्यापक डाॅ. सूर्य प्रकाश शर्मा ने ही कुछ दिन पूर्व एक सुगम माइक्रोफोटोग्राफिक उपकरण का विकास भी किया था, जिसे कोई भी विज्ञान शिक्षक बना सकता है। यह यंत्र बच्चों को जीव विज्ञान की प्रायोगिक शिक्षा देने में बहुत उपयोगी है।

चारों प्राध्यापक वीडियो कांफ्रेंसिंग से करते हैं पढ़ाई की रूपरेखा तैयार

अब विज्ञान संकाय के चारों प्राध्यापक वृंदा बंसल, सुनील, धर्मेंद्र व डाॅ. सूर्य प्रकाश शर्मा सप्ताह में एक बार वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए अगले सप्ताह के लिए अपनी पढ़ाई की रूपरेखा तय करते हैं और उसके अनुसार अपने विषय के ई-कंटेंट तैयार कर वेबसाइट पर अपलोड करते हैं। यह वेबसाइट बच्चों को उनके पाठ्यक्रम से संबंधित पाठ्य सामग्री तो उपलब्ध करवाती ही है साथ में उनके करियर से जुड़ी बातों की जानकारी भी देती है। बच्चों को स्कूली शिक्षा पूर्ण करने के बाद विभिन्न जगहों पर प्रवेश लेने हेतु अनेक संस्थानों की वेबसाइट्स के लिंक विज्ञान संकाय की इस वेबसाइट पर उपलब्ध है। यही नहीं इसी वेबसाइट में करियर गाइडेंस की सुविधा भी उपलब्ध है, वेबसाइट पर ही एक ऐसा लिंक उपलब्ध है, जिसे क्लिक करने के पश्चात वाट्सअप के जरिए सीधे करियर गाइडेंस हेतु सलाह लेने के लिए मैसेज किया जा सकता है। जिस पर उपलब्ध फैकल्टी बच्चों की समस्याओं का समाधान कर उन्हें उचित मार्गदर्शन प्रदान करती है। वेबसाइट पर बच्चों के अभिभावकों हेतु भी एक लिंक उपलब्ध है, जिसे क्लिक करने के पश्चात वे सीधे मैसेजिंग के जरिए संबंधित फैकल्टी मेंबर से संपर्क साध सकते हैं।

^राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय जमाल का विज्ञान संकाय टीम भावना के साथ काम कर रहा है। यह विद्यालय निश्चित रूप से क्षेत्र में अपनी एक विशेष पहचान बना रहा है। क्षेत्र वासियों को चाहिए कि वे ज्ञानार्जन हेतु अपने बच्चों को इस विद्यालय में भेजें।'' – जसपाल सिंह, बीईओ नाथूसरी चौपटा।

^वर्तमान परिस्थिति के संदर्भ मे डाॅ. सूर्य प्रकाश शर्मा का तकनीकी नवाचार विज्ञान के प्रचार प्रसार हेतु बहुत उपयोगी सिद्ध हो रहा है। उम्मीद है जमाल स्कूल का विज्ञान संकाय इन विषयों को इस क्षेत्र में अपने ज्ञानार्जन से सदैव पोषित करता रहेगा।'' – डाॅ. मुकेश कुमार, जिला विज्ञान विशेषज्ञ, सिरसा।