लाॅकडाउन में ढील मिली तो 50 दिनाें बाद खुलीं दुकानें, पहले दिन ही शहर में साेशल डिस्टेंसिंग का हुआ उल्लंघन

  • कंटेमेंट जाेन को छोड़कर शहर में निर्धारित शेड्यूल के अनुसार खुलेंगी दुकानें, इधर एक और राहत
  • पहले दिन ही असमंजस के कारण बाजार में काफी दुकानें खुल नहीं पाई, लेकिन करोड़ों का हुअा व्यापार

बहादुरगढ़. पिछले 50 दिनों से अधिक समय से जारी लॉकडाउन के कारण लोगों की जिंदगी घरों तक ही सिमटकर रह गई थी। घरों में बंद रहने से जिंदगी की गति बहुत धीमी हो गई थी। मगर, बुधवार से लॉकडाउन में मिली ढील और अधिकतर बाजारों को खुल जाने से सड़कों और बाजारों में फिर से रौनक लौटने लगी है। कई जगहों पर दुकानें खुलने लगी हैं, वहीं काफी स्थानों पर दुकानदार अाज भी असमंजस की हालत में रहे वे लोग गुरुवार को सुबह पूजा के बाद दुकानों के शटर खोलेंगे। दुकानों के खुलने का समय बढ़ने से दुकानदारों के साथ-साथ ग्राहकों को भी राहत मिली है।
हालांकि सुबह से ही बाजार में ग्राहकों की भीड़ भी बढ़ गई थी। लोग अपनी जरुरतों के सामान की खरीदारी के लिए बाजार में पहुंचने लगे हैं, क्योंकि अब बाजार सुबह शाम छह बजे तक खुलने लगे हैं। बाजार में लंबे समय तक खुलने से अब धीरे-धीरे स्थिति सामान्य हो जाएगा।

लोगों को बाजार में शॉपिंग के लिए अधिक समय मिला है, लेकिन लॉकडाउन-4 के तहत बाजार को अधिक समय मिलने के अलावा अन्य सभी व्यवस्थाएं लॉकडाउन-3 की तरह ही लागू रहेंगे। इसके बाद भी अादेश दिए गए हैं कि रात सात बजे के बाद जरूरी हो तो घरों से निकले, बाजारों व सड़कों पर भीड़ न करें, नहीं तो सख्त कार्रवाई होगी। बाजार खुलते ही लोगों ने सभी नियम तोड़ दिए व बाजार में जमकर खरीदारी की। पहले दिन की खरीदारी से जहां व्यापारी गदगद थे वहीं व्यापारियों का कहना है पहला दिन था इस कारण पचास दिनों के बाद अाए ग्राहकों को मना कर सकें पर अब वे ग्राहकों को दूर-दूर खड़ा करके ही सामान को बेचेंगे।

दिल्ली बाॅर्डर पर बढ़ी वाहनों की संख्या
लॉकडाउन के चौथे चरण में लोगों को आवाजाही की अनुमति मिलने के बाद सड़कों पर वाहनों की संख्या में वृद्धि देखने को मिली। विशेषकर दिल्ली बाॅर्डर के साथ-साथ रोहतक रोड पर यातायात देखने को मिला। मंगलवार तक सुबह बहादुरगढ़ दिल्ली की सीमा पर पुलिस वाहन चालकों से पास मांग रही थी, जिसके कारण वहां जाम देखने को मिलता था परअब बुधवार को इस मामले में भी कुछ राहत दिखाई दी।

हालांकि पुलिस ने केवल अाज्ञा पत्र के बाद ही वाहनों को अाने की इजाजत दी जा रही है। पुलिस ने जाने वाले यात्रियों को चेतावनी दी हुई है कि यदि उनके पास संबंधित अधिकारियों द्वारा जारी किए गए आवाजाही पास हों तभी वे यात्रा करें। इस मामले में एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि बुधवार को सुबह दिल्ली-बहादुरगढ़ सीमा पर लोगों की भीड़ जमा होने लगी थी। इसके बाद भी वाहनों की जांच का काम जारी रहा, लेकिन कभी-कभी वाहनों की संख्या बढ़ने के कारण यह बहुत मुश्किल हो जाता है। जो लोग घूमने निकले थे उन्हें चेतावनी देकर वापस भेज दिया गया।

लोगों की गलतफहमी दूर होनी चाहिए

लॉकडाउन 4.0 में बहादुरगढ़ शहरी क्षेत्र की दुकानों का समय व दिन निर्धारित किया गया है, लेकिन उसके बाद भी दिन भर एसडीएम कार्यालय में फोन करके दुकानों के खुलने व बंद होने की जानाकरी लेते रहे। इस मामले में एसडीएम तरूण पावरिया ने साफ कर दिया है कि कंनटेमेंट एरिया को छोड़कर अन्य शहरी निकाय क्षेत्र में निर्धारित शेड्यूल अनुसार क्रमवार दुकानें खुल सकती हैं। अब बहादुरगढ़ शहरी क्षेत्र में सभी प्रकार के खाद्य पदार्थों की दुकान, रेस्टोरेंट खोलने की अनुमति सुबह 9 बजे से सांय 6 बजे तक रहेगी।

इसी तरह से दूध एवं डेयरी उत्पाद, फल व सब्जियों की दुकानें व किरयाने की दुकानें रोजाना सुबह 7 बजे से सुबह 10 बजे तक तथा सांय 4 बजे से सांय 7 बजे तक ही खुलेंगी। बहादुरगढ़ शहर में मिठाई की दुकानें, टी-स्टॉल, हरा अथवा सूखा चारा, कीटनाशक दवाएं, बीज, कृषि व बागवानी उपकरण, पशु आहार, कांफेशनरी, बुक स्टॉल, स्टेशनरी, फोटोस्टेट, फार्म आदि की दुकानें, वीटा बूथ, ड्राई क्लीनर, कृषि यंत्र की दुकानें, ऑटो पार्ट्स, टायर ट्यूब सहित हाईवेयर स्टोर व औद्योगिक सामान की दुकानें रोजाना सुबह 9 बजे से सांय 6 बजे तक खुलेगी। बहादुरगढ़ में जरनल स्टोर, शूज व चप्पल की दुकानें, कपड़ा, रेडिमेड गारमेंट्स, हेंडलूम, फर्नीचर लकड़ी व प्लास्टिक की दुकानें, टेंट हाऊस व बार्बर शॉप सप्ताह में सोमवार, बुधवार व शुक्रवार को सुबह 9 बजे से सांय 6 बजे तक खुलेंगी।

शहर की सीमाओं में केवल पास धारकों को ही प्रवेश की अनुमति

लॉकडाउन-4 में भी शहर की सीमाओं पर प्रशासन की तरफ से कोई ढील नहीं दी गई है। बुधवार को जैसे ही बहादुरगढ़ शहर के बाजार को खोला गया तो लोगों ने समझा कि दिल्ली जाने की भी इजाजत मिल गई है। इस कारण सुबह एक बार बाॅर्डर पर गाड़ियों का दबाव काफी बढ़ गया। इससे गाड़ियों की लंबी कतार लगने लगी। वे वाहन चालक दिल्ली से बहादुरगढ़ में प्रवेश करना चाह रहे थे। नाके पर तैनात जवानों ने लोगों के पास देखे, इसके बाद ही उन्हें एंट्री मिली।

इस दौरान लोगों के नाम और पते भी दर्ज किए गए। जिन लोगों के पास केंद्रीय गृह मंत्रालय का पास नहीं था, उन्हें शहर में घुसने की अनुमति नहीं दी गई। बॉर्डर पर रोके गए दिल्ली निवासी उमाशंकर मिश्रा ने बताया कि जब दिल्ली में कहीं भी उन्हें नहीं रोका जा रहा है तो फिर हरियाणा के शहर में ऐसी पाबंदी क्यों लगाई है। रोजाना के काम वाले लोगों को ऐसे में समस्याओं को सामना करना पड़ेगा। ऐसे में प्रशासन को लोगों की स्क्रीनिंग कराकर जाने की अनुमति देनी चाहिए।

ऑप्टिकल शाॅप व ज्वेलरी शाॅप तीन दिन खुलेंगी
आयरन स्टोर, सैनेटरी स्टोर, शटर्निंग मैटिरियल, भवन निर्माण सामग्री, टाइल्स दुकानें, इलेक्ट्रिक व इलेक्ट्रोनिक सामान की दुकानें, मोबाइल, आईटी, कंप्यूटर सेल, सर्विस, रिपेयर सेंटर, फोटोग्राफर, आप्टिकल शॉप, घड़ी शॉप, बर्तन व क्रोकरी शॉप, ज्वेलरी शॉप तथा उपरोक्त दर्शाए गई दुकानों में से जो बच गई वह मंगलवार, गुरूवार व शनिवार को सुबह 9 बजे से सांय 6 बजे तक ही खुलेंगी।