बोर्ड परीक्षा में विद्यार्थियों को राहत, अब अपने ही स्कूल में दे सकेंगे परीक्षा

  • सीबीएसई की डेटशीट घोषित होने के बाद उठा सवाल क्या परीक्षा केन्द्र में होगा बदलाव, क्या कक्षा में होगा छात्र संख्या अनुपात

सोनीपत. सीबीएसई ने 12वीं की शेष परीक्षाओं को लेकर विद्यार्थियों को बड़ी राहत दी है। उन्हें इस बार परीक्षा देने के लिए किसी अन्य स्कूल में जाने की आवश्यकता नहीं होगी बल्कि वे अपने ही स्कूल में परीक्षा दे सकेंगे। जिस दिन सीबीएसई की डेटशीट घोषित हुई थी उसी दिन से यह सवाल बना हुआ था कि क्या परीक्षा केन्द्र में बदलाव होगा और छात्र संख्या कक्षा में अनुपात क्या होगा। इसे लेकर बुधवार को व्यवस्था क्लियर हो गई। हर कक्षा में औसतन 10 से 14 विद्यार्थी होंगे।

20 जुलाई तक घोषित होगा परिणाम

सीबीएसई 10वीं 12वीं के उन पेपरों की उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन शुरू हो चुका हैं। बोर्ड की ओर से 20 जुलाई तक परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया जाएगा। लॉकडाउन के चलते 10वीं 12वीं के कुल 83 विषयों की परीक्षाएं बीच में स्थगित करनी पड़ी थीं। जिसके बाद सीबीएसई ने फैसला लिया था कि इनमें से अब 29 मुख्य विषयों की ही परीक्षाएं कराई जाएंगी। ये वो पेपर हैं जो अगली क्लास में प्रमोट होने और स्नातक कोर्स में एडमिशन लेने के लिए बेहद महत्वपूर्ण हैं।

परीक्षा को लेकर व्यवस्था हुई क्लियर, हर कक्षा में औसतन 10 से 14 विद्यार्थी होंगे मौजूद

यह है सीबीएसई की नई व्यवस्था
छात्रों को बाहरी परीक्षा केंद्रों पर नहीं बल्कि अपने स्कूल में ही परीक्षा देनी होगी। परीक्षा के लिए छात्रों को कम से कम यात्रा करनी पड़े, इसके मद्देनजर ही यह फैसला लिया गया है। सोशल डिस्टेंसिंग के साथ परीक्षा का आयोजन करना छात्र के स्कूल की जिम्मेदारी होगी। छात्रों को भी अपना मास्क और सेनिटाइजर लेकर अपने स्कूल पहुंचना होगा।

पारदर्शिता को दूसरे परीक्षा केन्द्र में जाते हैं विद्यार्थी
सहोदय अध्यक्ष वीके मित्तल ने बताया कि सीबीएसई पारदर्शिता बनाए रखने के लिए बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन छात्रों के अपने स्कूलों में नहीं, बल्कि अन्य स्कूलों में करता है, लेकिन कोरोना संक्रमण काल में निरंतर बदल रही व्यवस्था में लगातार विद्यार्थियों को राहत दी जा रही है। जिसमें अब यह भी शामिल हाे गई है अब उसी स्कूल में परीक्षा देनी है जहां पूरे साल पढ़ाई की।

1 जुलाई से 13 जुलाई तक होगी परीक्षाएं :

सीबीएसई परीक्षाएं एक जुलाई से शुरू होगी । जिसकी शुरुआत होम साइंस का पेपर से 1 जुलाई को होगी, उसके बाद हिन्दी इलेक्टिव/हिन्दी कोर का पेपर 2 जुलाई, इंफार्मेशन प्रैक्टिस(ओेल्ड)/इंफार्मेशन प्रैक्टिस (न्यू)/इंफार्मेशन टेक्नोलॉजी/कंप्यूटर साइंस न्यू व ओल्ड का पेपर 7 जुलाई को, बिजनेस स्टडीज 9 जुलाई, बायोटेक्नोलॉजी 10 जुलाई, ज्योग्राफी 11 जुलाई, सोशोलॉजी 13 जुलाई को होगा।
परीक्षा के लिए इन नियमों की पालना जरूरी : सभी छात्रों को एक पारदर्शी बोतल में अपना खुद का हैंड सैनिटाइजर लेकर जाना होगा। {सभी छात्रों को मास्क या कपड़े से अपनी नाक व मुंह को ढंकना होगा। {सभी छात्रों को फिजिकल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना होगा। {पेरेंट्स को यह सुनिश्चित करना होगा कि उनका बच्चा बीमार नहीं हो।