प्रदेश में कोरोना से 17 की मौत, 1 हजार के पास पहुंचा करोना संक्रमितों का आंकड़ा

  • हरियाणा में अब कुल कोरोना संक्रमित हुए 999
  • 648 मरीज अस्पताल से हुए डिस्चार्ज

पानीपत. हरियाणा में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 1 हजार के नजदीक पहुंच गया है। वहीं प्रदेश में कोरोना की वजह से 17 मौत हो चुकी है। बुधवार को प्रदेश में कोरोना की वजह से चार मरीजों ने दम तोड़ा। इनमें से तीन ने रोहतक पीजीआई में तो एक ने हिसार स्थित आइसोलेशन वार्ड में दम तोड़ दिया। प्रदेश में अभी तक 648 मरीज अस्पताल को डिस्चार्ज किया गया है।

पीजीआई रोहतक में भर्ती गुड़गांव से रेफर तीन कोरोना संक्रमित ने दम तोड़ा। इसमें बिहार के रहने वाले हारून, हसन रजा व राधेश्याम शामिल है। हारून व हसन रजा का शव रोहतक के जींद रोड स्थित कब्रिस्तान में दफनाया गया जबकि राधेश्याम का अंतिम संस्कार रोहतक के वैश्य संस्था के पास स्थित श्मशान घाट में किया गया। जींद के पेगा गांव के व्यक्ति की भी कोरोना से मौत हो गई। उसने हिसार स्थित आइसोलेशन वार्ड में दम तोड़ दिया। वह कैंसर से पीड़िता था। उसका अंतिम संस्कार हिसार में ही होगा।

अब जल्दी घर लौटेंगे प्रवासी मजदूर

अपने घरों के लिए जाने का इंतजार कर रहे श्रमिक जल्दी से घरों को लौट सकेंगे, क्योंकि रिसीविंग प्रदेशों से अब किसी तरह की एनओसी की जरूरत नहीं होगी। साथ ही श्रमिकों से आह्वान किया कि वे पैदल न चलें, क्योंकि अब एनओसी की जरूरत नहीं है। जितने भी श्रमिक आएंगे, सभी को उनके प्रदेशों में भेज दिया जाएगा। सरकार के इस निर्णय से मजदूरों का पैदल पलायन काफी हद तक रुक जाएगा, क्योंकि सभी की ट्रेनों या बसों से घर जाने की बारी आएगी। इस संबंध में बुधवार को सीएम मनोहर लाल व गृह मंत्री अनिल विज के बीच चंडीगढ़ में बातचीत हुई है। यूपी के श्रमिकों को बसों के जरिए भेजा जाएगा। वहीं बिहार व एमपी के श्रमिकों को ट्रेनों से भेजा जाना है। यूपी के जो मजदूर दूर जाने वाले हैं, सरकार उनके लिए ट्रेन भी उपलब्ध करा सकती है।

10वीं के परिणाम में लग सकता है 10 दिन से अधिक समय

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के दसवीं परीक्षा परिणाम के लिए इंतजार करना होगा। परिणाम जारी होने में कितना समय लगेगा यह तो शिक्षा विभाग के आला अधिकारी व शिक्षा मंत्री ही बता सकते हैं लेकिन इतना जरूर है कि वहां से हरी झंड़ी मिलने के बाद ही परीक्षा परिणाम जारी हो पाएगा। हरियाणा शिक्षा बोर्ड ने दसवीं का परीक्षा परिणाम 20 मई को जारी करने की घोषणा की थी, लेकिन लॉकडाउन के कारण मार्किंग में देरी व शेष पेपर को नहीं करवाए जाने से परीक्षा परिणाम में देरी हो रही है।

हरियाणा में मरीजों का आंकड़ा 999 पहुंचा

  • सबसे ज्यादा गुरुग्राम में 226, फरीदाबाद में 176, सोनीपत में 147, झज्जर में 91, नूंह में 65, अंबाला में 42, पलवल में 40, पानीपत में 42, पंचकूला में 25, जींद में 22, करनाल में 20, रोहतक में 12, महेंद्रगढ़ में 10, रेवाड़ी में 9, सिरसा, फतेहाबाद, व यमुनानगर में 8-8, हिसार में 9, कुरुक्षेत्र में 7, भिवानी में 6, कैथल में 5, चरखी-दादरी में 6, भिवानी में 3 संक्रमित मरीज हैं। इसके अलावा, मेदांता अस्पताल गुड़गांव में 14 इटली के नागरिकों को भी भर्ती करवाया गया था, जिन्हें हरियाणा ने अपनी सूची में जोड़ा है।

  • प्रदेश में अब कुल 648 मरीज ठीक हो गए हैं। इनमें गुरुग्राम में 131, फरीदाबाद में 86, सोनीपत में 100, नूंह में 60, झज्जर में 62, अंबाला में 40, पलवल 36, पानीपत में 31, पंचकूला में 24, जींद में 15, करनाल में 9, यमुनानगर में 8, सिरसा में 8, रोहतक में 4, महेंद्रगढ़ में 4, भिवानी में 4, हिसार में 3, कैथल में 3, फतेहाबाद में 2, कुरुक्षेत्र में 2, चरखी दादरी में 1 मरीज ठीक होकर घर लौट चुका है। 14 मरीज इटली के भी ठीक हुए हैं।