पानीपत, करनाल और कुरुक्षेत्र के 1400 प्रवासियों को लेकर ट्रेन एमपी के लिए रवाना

  • जिला प्रशासन प्रवासी श्रमिकाें काे राेडवेज बसाें के माध्यम से पानीपत रेलवे स्टेशन पर सुबह 10 बजे से ही लाना शुरू कर दिया था

पानीपत. पानीपत जंक्शन से बुधवार को श्रमिक स्पेशल ट्रेन से रीवा, दमाेद, छतरपुर के प्रवासी श्रमिकाें काे रवाना किया गया। यह प्रवासी श्रमिक कुरुक्षेत्र, करनाल अाैर पानीपत में रह रहे थे। उन्हाेंने लाॅकडाउन के दाैरान वापस घर जाने के लिए आवेदन किया था। तीनों जिलों के रहने वाले प्रवासी श्रमिकाें काे राेडवेज बसाें के माध्यम से स्टेशन पर सुबह 10 बजे से ही लाना शुरू कर दिया था। स्टेशन पर एंट्री से पहले जीआरपी और आरपीएफ के द्वारा सभी प्रवासी श्रमिकाें के दस्तावेज चेक किए। दाेपहर एक बजे से प्रवासी श्रमिकाें काे एक-एक कर स्टेशन के अंदर एंट्री दी। स्टेशन पर साेशल डिस्टेंसिंग का पालन करते श्रमिकाें काे गाेल घेराें में बिठाया गया। मेडिकल टीम ने सभी श्रमिकाें की थर्मल स्क्रीनिंग की गई।

खाना, पानी, मास्क और सैनिटाइजर की थी व्यवस्था

एसएस धीरज कपूर ने बताया कि श्रमिक स्पेशल ट्रेन में 17 बाेगी थीं। जनरल अाैर स्लीपर बाेगी में 80-80 श्रमिकाें काे बिठाया गया। जिला प्रशासन के द्वारा श्रमिकाें के लिए भाेजन, पानी की बाेतल, मास्क अाैर सैनिटाइजर की व्यवस्था की गई। शाम 4 बजे ट्रेन काे मध्य प्रदेश के सागर के लिए रवाना कर दिया। इस अवसर पर श्री गुरु रामदास सिंह सभा के प्रधान मोहनजीत सिंह और सिख यूथ फेडरेशन के प्रधान मुख्तयार सिंह ने सभी श्रमिकों को लंगर वितरित किया।
सहारनपुर के लिए 1925 प्रवासी श्रमिकाें काे बसाें से किया रवाना: अार्य काॅलेज ग्राउंड से बुधवार सुबह 6 बजे से यूपी के सहारनपुर के लिए राेडवेज बसाें काे रवाना किया जाना शुरू कर दिया। टीएम कर्मवीर ने बताया कि साेशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए एक बस में 35 से 40 श्रमिकाें काे ही बिठाया गया। राेडवेज की 45 बसाें से करीब 1925 प्रवासी श्रमिकाें काे सहारनपुर भेजा गया।