संक्रमण से बचने के लिए पीजीआई में टेली कंसलटेशन सुविधा शुरू

  • विभिन्न डिपार्टमेंट के एचओडी के मुताबिक इस तरह मरीज काे देखकर उसकी तकलीफ का सही तरह से आंकलन करना मुश्किल
  • वट्सएप पर मरीजों की रिपोर्ट देखकर उन्हें दी सलाह, पहले दिन टेली कंसल्टेंट सर्विस का लाभ नए और फॉलोअप मरीजों ने उठाया

चंडीगढ़. दाे महीने के लंबे अंतराल के बाद पीजीआई में मरीजों के इलाज की सुविधा शुरू की गई है। लेकिन इलाज का यह तरीका अलग रहेगा। अब मरीजों को पीजीआई आए बिना उनके मोबाइल पर ही इलाज से जुड़ी जानकारियां मोहय्या करवाई जा रही हैं। टेली कंसलटेशन कहलाई जाने वाली इस सर्विस के तहत मंगलवार को मरीजों काे रजिस्ट्रेशन करवाने में भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

न्यू ओपीडी में मरीज काे मेडिकल एडवाइज के लिए रजिस्ट्रेशन के लिए जाे नंबर दिया गया था, वह नंबर आउट ऑफ सर्विस आ रहा था। कई बार काॅल करने के बाद कुछ चुनिंदा मरीजाें का ही रजिस्ट्रेशन हाे सका। पीजीआई के अनुसार इस सुविधा का लाभ अलग-अलग डिपार्टमेंट के करीब 780 मरीजाें ने उठाया।

फोन पर मरीज की तकलीफ का आंकलन मुश्किल

विभिन्न डिपार्टमेंट के एचओडी ने खुद माना है कि इस तरह मरीज काे देखकर उसकी तकलीफ का सही तरह से आंकलन करना मुश्किल है। उन्होंने कहा कि पीजीआई प्रबंधन बेशक चुनिंदा मरीजों काे बुलाए लेकिन मरीज काे सामने देखकर ही हालत का अंदाजा लगाया जा सकता है। साथ ही दवा भी मरीज काे देखकर ही लिखी जा सकती है। मंगलवार काे जिन मरीजों ने रजिस्ट्रेशन करवाया था। उन्हें जाे डिजीज थी उसे टेलीफाेन करके मरीज से पूछा गया। इसके अलावा वट्सएप पर मरीजों की रिपोर्ट देखकर उन्हें सलाह दी गई । पहले दिन टेली कंसल्टेंट सर्विस का लाभ उठाने वालों में नए मरीजों के साथ ही फॉलोअप के भी मरीज शामिल थे।

पहले राेजाना ओपीडी 10 से 12 हजार हाेती थी

काेराेना से पहले आम दिनाें में पीजीआई की राेजाना ओपीडी 10 से 12 हजार हाेती थी। ट्राईसिटी के अलावा यहां रोजाना पंजाब, हरियाणा और हिमाचल प्रदेश से मरीज आते थे। पीजीआई प्रबंधन के अनुसार कोरोना संक्रमण को कंट्रोल करने के लिए पीजीआई समेत अन्य सभी अस्पतालों की ओपीडी काफी दिनों से बंद चल रही है। जिससे मरीजों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। उसे ध्यान में रखते हुए ओपीडी की सेवा बहाल किए बिना उन मरीजों को टेली कंसल्टेंट के जरिए राहत देने का प्रयास किया गया है । जिसके तहत सोमवार से शनिवार सुबह 8 बजे से 9 बजे के बीच उन मरीजों के कॉल रिसीव कर उनका रजिस्ट्रेशन किया जाएगा। उसके बाद सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे के बीच उन मरीजों को पीजीआई के डॉक्टर कॉल करके उचित परामर्श देंगे। इस सेवा का लाभ उठाने के लिए पीजीआई प्रशासन ने मरीजों से अपील की है कि वे ऐसा मोबाइल नंबर ही दें जिस पर वट्सएप की सुविधा भी उपलब्ध हो, ताकि कंसलटेशन के दैारान रिपोर्ट देखने में परेशानी ना हो।

सोमवार से शनिवार ओपीडी में टेली मेडिसिन की सुविधा उपलब्ध होगी

1. न्यू ओपीडी 0172-2755991

2. एडवांस आई केयर सेंटर व डीडीटीसी 0172-2755992

3. एडवांस कार्डियक सेंटर 0172-2755993

4. एडवांस पीडियाट्रिक सेंटर 0172-2755994