शिक्षक-अभिभावक ऑनलाइन मीट में विद्यार्थियों के मनोबल को बढ़ाए रखने पर किया मंथन

बहादुरगढ़. वैश्य आर्य कन्या काॅलेज की आईक्यूएसी यूनिट के तत्वावधान में कोविड-19 वैश्विक महामारी के आपदा की घड़ी में शिक्षक अभिभावक ऑनलाइन मीट का आयोजन किया गया। जिसमें 80 से अधिक अभिभावकों ने हिस्सा लिया। काॅलेज की प्राचार्य डाॅ. राजवंती शर्मा ने बताया कि इस मीट को आयोजित करने का मुख्य उद्देश्य अभिभावको के साथ विभिन्न विषयों पर विचार-विमर्श जैसे ई-लर्निंग की सार्थकता,इस समय में विद्यार्थियों के मनोबल को किस प्रकार बनाए रखना है, शिक्षा में निरन्तरता बनाए रखना और परीक्षा के समय में किसी भी प्रकार की कठिनाई का सामना न करना पड़े रहे।
रेडक्राॅस व एनएसएस इकाई जागरूकता फैलाने का कर रही कार्य
कोविड-19के दौरान दौरान जहां एक ओर सारा समाज अपने अपने घरों में कैद है। वहीं दूसरी ओर यह छात्राएं अपने आप को अध्ययन के साथ साथ विभिन्न इकाइयों रेडक्रास, एनएसएस, आउटरीच व महिला प्रकोष्ठ के साथ मिलकर समाज में जागरूकता फैलाने का काम कर रही हैं। आईक्यूएसी प्रभारी डाॅ. शालु शर्मा ने सभी अभिभावकों का इस शिक्षक-अभिभावक मीट में ऑनलाइन जुड़कर अपने विचार साझा करने के लिए आभार व्यक्त किया। इस आॅनलाइन आयोजन में अभिभावकों ने अपने सुझाव एवं विचार रखकर इस मीटिंग को सफल बनाया। इस कार्यक्रम के आयोजन में बीसीए विभागाध्यक्ष नेहा रोहिल्ला की सक्रिय भागीदारी के साथ-साथ महाविद्यालय की सभी प्राध्यापिकाओं का विशेष सहयोग रहा।
रोजाना पहनना होगा मास्क
प्राचार्य ने कहा कि अब लॉकडाउन में धीरे-धीरे ढील दी जा रही है इसलिए और अधिक सावधानी व सतर्कता के साथ रहना होगा। इस समय में मास्क पहनना, निश्चित सामाजिक दूरी का पालन करना व बार-बार हाथ धोने इत्यादि को रोज़मर्रा की ज़िंदगी के हिस्से के रूप में अपनाना होगा। उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी के समय में अभिभावक अपने आप को अकेला न समझे, बच्चों की पढ़ाई को लेकर चिन्तित न हों क्योंकि हम सभी इस दिशा में पूर्णतया समर्पित हैं यदि किसी भी छात्रा को अपने पाठयक्रम से सम्बंधित कोई भी समस्या है तो उसके निवारण हेतु प्राचार्य से फोन पर बात कर सकता है। विभिन्न प्रतियोगिताओं के माध्यम से छात्राओं को तनाव मुक्त अध्ययनरत रखने का प्रयास किया जा रहा हैं। इन प्रतियोगिताओं की तैयारी में अभिभावकों के द्वारा किए जा रहे सहयोग के लिए आभार प्रकट किया व विजेता छात्राओं के माता-पिता को बधाई दी साथ ही उनके उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं दी। अभिभावकों ने भी अपने विचार प्राध्यापिकाओं के समक्ष रखे और इस लाॅकडाउन के समय में छात्राओं को महाविद्यालय द्वारा पढाई एवं अन्य विषयों से संबंधित उपलब्ध कराई जा रही जानकारी की सराहना करते हुए कहा कि उन्हें गर्व है कि उनके बच्चे ऐसे महाविद्यालय में शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं सभी प्राध्यापिकाएं छात्राओं के हित के लिए पूर्णतया समर्पित है।