लॉकडाउन का फायदा उठाएगा रेलवे, एक नंबर लाइन का 1 माह में बदला जाएगा वाशेबल एप्रन

अम्बाला. लॉकडाउन में ट्रेनों का परिचालन बंद होने का फायदा उठाने के लिए रेलवे कैंट स्टेशन की एक नंबर लाइन पर वाशेबल एप्रन डालेगा। इसके साथ प्लेटफार्म पर भी नया कोटा पत्थर लगाया जाएगा। इस काम को 1 महीने में पूरा करने का टारगेट है। कैंट स्टेशन डायरेक्टर बीएस गिल ने कहा कि अगले कुछ दिनों में काम शुरू होगा। अभी फाइनल एप्रूवल आनी है।

2.25 करोड़ रुपए की लागत से वाशेबल एप्रन डालने का टेंडर कंपनी को अलॉट हुआ है। वाशेबल एप्रन डलने से एक नंबर लाइन पर सफाई का कार्य बेहतर तरीके से होगा। बुधवार को कंपनी के कर्मचारियों ने लाइन की चौड़ाई व लेवल को चेक किया। लाइन को उखाड़ने के लिए अर्थ मूविंग मशीन मंगवाए हैं।

पहले रेलवे द्वारा पटरियों को उखाड़ा जाएगा जिसके बाद वह जेसीबी की मदद से ट्रैक को तोड़ा जाएगा। वर्ष 2010-11 में रेलवे द्वारा एक नंबर लाइन पर वाशेबल एप्रन डाला गया था। तब काम पूरा होने में 50 दिन लगे थे। सामान्य दिनों में सबसे ज्यादा दबाव 1 नंबर लाइन पर रहता है। 24 घंटे के दौरान 35 से ज्यादा प्रमुख ट्रेन एक नंबर लाइन से गुजरती हैं।