रोडवेज की 35 बसों में 1210 प्रवासी श्रमिक शामली के लिए किए रवाना

  • भेजने से पहले थर्मल स्कैनिंगऔर स्वास्थ्य की जांच की गई

बहादुरगढ़. कोविड-19 वैश्विक महामारी के चलते लॉकडाउन में प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह जिलों में निर्धारित शेड्यूल के हिसाब से भेजा जा रहा है। मंगलवार को जिले से 35 बसों में 1210 प्रवासी श्रमिकों को यूपी के शामली के लिए रवाना किया। नोडल अधिकारी एवं सिटीएम डाॅ. सुभिता ढाका ने बताया कि मंगलवार को झज्जर से भेजे गए 1210 प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह जिलों में निशुल्क यात्रा कराते भेजा है। झज्जर से यूपी के शामली के लिए रोडवेज की आठ बसों में 245 प्रवासी श्रमिकों को एसडीएम झज्जर शिखा की देखरेख में भेजा गया। साथ ही बहादुरगढ़ एसडीएम तरुण कुमार पावरिया की देखरेख में रोडवेज की 27 बसों में 965 प्रवासी श्रमिकों को यूपी के शामली कलस्टर के लिए रवाना किया। उन्होंने बताया कि सभी प्रवासी श्रमिकों को उनके गंतव्य के लिए रवाना करने से पहले थर्मल स्केनिंग व स्वास्थ्य की जांच की गई। इसके बाद मास्क दिए। साथ ही पानी की बोतल व बिस्किट के पैकेट बांटे। उन्होंने बताया कि जिले से ट्रेन व बसों से पंजीकृत इच्छुक प्रवासी श्रमिकों को उनके गृह जिलों के लिए रवाना किया जा रहा है।

सहयोगी बनने पर सरकार का अभार जताया : अपने गृह जिलों को जाने वाले प्रवासी श्रमिक व उनके परिवारों के चेहरे पर मुस्कान साफ झलक रही थी। सभी ने हरियाणा सरकार की ओर से आपदा की इस स्थिति में उनके सहयोगी बनने पर आभार भी जताया। दूसरे राज्यों को जाने वाले प्रवासी श्रमिकों को किसी भी प्रकार की परेशानी न हो।