नगर निगम के सफाई टेंडर और नंदीशाला चारा घोटाले की जांच के लिए विधायक को सौंपा ज्ञापन

सोनीपत. नगर निगम में सफाई टेंडर घोटाले व नंदीशाला चारा घोटाले का आरोप लगाते हुए मुरथल गांव निवासी जोगेंद्र सिंह उर्फ नंदकिशोर आंतिल ने विधायक मोहनलाल बड़ौली को ज्ञापन सौंपा है। शिकायतकर्ता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व सीएम मनोहरलाल को भी ईमेल भेजकर इस मामले की स्टेट विजिलेंस से जांच कराने की मांग की है। आरोप है कि कई अधिकारी कंपनी को बचाने के लिए केवल रिकवरी कर रहे हैं, लेकिन उनकी मांग ऐसी कंपनी को ब्लैकलिस्ट कर मुकदमा दर्ज कराने की है।
मुरथल निवासी नंदकिशोर आंतिल ने बताया कि सोनीपत नगर निगम में जुलाई 2019 में पूजा कंसोलेशन कंपनी को दिया था। जिसमें उसे 2 प्रतिशत सर्विस चार्ज के हिसाब से 160 सफाई कर्मियों का टेंडर दिया गया था। इसके बाद अधिकारियों से मिलीभगत कर कंपनी की तरफ से 2 प्रतिशत सर्विस चार्ज की जगह कटिंग कर 15 प्रतिशत कर दिया गया। 160 सफाई कर्मियों की जगह कटिंग कर 180 सफाई कर्मी कर दिया गया। इसी प्रकार नगर निगम को लाखों रुपए का आर्थिक नुकसान किया गया। इसी प्रकार से पूजा कंसोलेशन की ही दूसरी फर्म को नंदीशाला में चारे का टेंडर दिया गया। यहां भी घोटाले की आशंका की शिकायत की गई है। शिकायतकर्ता का आरोप है कि इतना बड़ा घोटाला केवल एक कंपनी नही कर सकती। इसमें नगर निगम के कुछ बड़े स्तर के अधिकारी भी शामिल हैं। इन सभी की स्टेट विजिलेंस या एसआईटी गठित कर जांच होनी चाहिए। विधायक मोहनलाल बड़ौली ने कहा कि वे इस पूरे मामले से सीएम को अवगत कराएंगे। उन्होंने आश्वासन दिया कि भ्रष्‍टाचार करने वालों को किसी भी सूरत में बर्दाश्त नही किया जाएगा।