दो टीमों के अधिकतम 18 खिलाड़ी एक साथ केवल एक घंटे के लिए अभ्यास कर सकते हैं

  • आज अनलॉक होंगे खेल मैदान; नाबालिग एथलीटों को घरवालों से लिखवाकर लाना होगा- कोरोना हुआ तो खुद जिम्मेदार होंगे

अम्बाला. आखिर 2 माह बाद कड़े नियमों के साथ वीरवार से खेल के मैदानों में लॉक खुल जाएंगे। खेल विभाग द्वारा इसकी तैयारी कर ली गई है। बुधवार को कैंट के वार हीरोज मेमोरियल स्टेडियम के अलावा सिटी राजीव गांधी खेल स्टेडियम, कैंट में योगा और बैडमिंटन हॉल को सेनेटाइज कराया गया है।

वीरवार से खिलाड़ी खेल विभाग द्वारा तय नियमों के साथ अभ्यास कर सकेंगे। विभाग को बुधवार मुख्यालय से नई गाइडलाइन प्राप्त हुई है। एथलेटिक्स खिलाड़ियों को तो अपने अभिभावकों से यह तक लिखवाकर देना होगा कि यदि वह कोरोना संक्रमित होते हैं तो इसकी जिम्मेवारी उनकी होगी। इतना ही नहीं दो टीमों के अधिकतम 18 खिलाड़ी एक साथ केवल एक घंटे के लिए अभ्यास कर सकते हैं। विभाग को सुबह स्टेडियम व सेंटर को प्रतिदिन सेनेटाइज कराना होगा। डीएसओ रमेश वर्मा ने बताया कि स्टेडियम व अन्य सेंटर अभ्यास के लिए खोल दिए जाएंगे। कोच यहां पूर्व की तरह नियमित ड्यूटी देंगे।

खिलाड़ियों व कोचिंग स्टाफ को मास्क पहनना होगा।
हेल्थ स्क्रीनिंग की जाएगी और आरोग्य एप डाउनलोड करना अनिवार्य होगा।
स्टेडियम व हॉल की एंट्री पर सेनेटाइजर उपलब्ध कराना होगा।

स्टाफ व खिलाड़ियों को डेढ़ से दो मीटर की दूरी रखनी होगी।
हाथ नहीं मिलाने होंगे। खिलाड़ियों को अपने पर्सनल खेल एक्यूपमेंट इस्तेमाल के लिए दूसरे खिलाड़ी को नहीं देने होंगे।
अधिकतम 10 खिलाड़ियों की ट्रेनिंग डेढ़ से 2 मीटर की दूरी पर रखकर कराई जाएगी।
{एथलेटिक के अंडर 18 आयु वर्ग के खिलाड़ियों से लिखित में उनके अभिभावकों की तरफ से लिया जाएगा कि यदि उन्हें कोरोना संक्रमण होता है तो इसके लिए अभिभावक जिम्मेदार होंगे।