झज्जर एनसीआर माइनर में डूबने से 3 सिविल इंजीनियर दोस्तों की मौत, दिल्ली के रहने वाले थे तीनों

झज्जर.  हरियाणा के झज्जर जिले के बादली में तीन सिविल इंजीनियर्स की डूबने से मौत हो गई. राजधानी दिल्ली के नजफगढ़ और आसपास के रहने वाले ये तीनों दोस्त झज्जर के नौरंगपुर गांव में आये थे. नौरंगपुर गांव में तीनों का काम चल रहा था. काम से वापस लौटते हुए तीनो नहाने के लिए एनसीआर माइनर में उतर गए. एनसीआर नहर में नहाते हुए तीनों डूब गए. पुलिस ने गोताखोरों की मदद से दो के शव बरामद कर लिए हैं जबकि तीसरे के शव की तलाश की जा रही है.
बादली थाना प्रभारी जितेंद सिंह ने बताया कि परिजनों की शिकायत के आधार पर जब युवकों की तलाश की गई तो उनकी गाड़ी नहर किनारे खड़ी हुई मिली. जिसके बाद रात से ही पुलिस गोताखोरों की मदद से युवकों की तलाश कर रही थी. सुबह दो युवकों के शव मिल गए जिन्हें पोस्टमार्टम के लिए बहादुरगढ के नागरिक हॉस्पिटल में भेजा गया. पुलिस ने बताया कि स्थानीय लोगों की मदद से तीसरे युवक की तलाश की जा रही है. रस्‍सी की मदद से बचावकर्मी नहर में उतरे है. वहीं नहर की गहराई अधिक होने की वजह से थोड़ी मुश्किल आ रही है.
नहर के बाहर लगे नोटिस के बावजूद नहाने उतरे तीनों
गुरुग्राम को पानी देने वाली एनसीआर नहर में इससे पहले भी कई लोग डूब चुके हैं जिसके बाद पुलिस ने नहर में नही नहाने की हिदायत भी जारी कर रखी है. लेकिन उसके बावजूद चोरी छुपे नहर में नहाने का सिलसिला जारी है और इसी वजह से लोग अपनी जान भी गंवा रहे हैं. पुलिस ने चेतावनी के साइन बोर्ड भी लगवाए हैं. अब अधिकारियों को लिखकर नहर किनारे ग्रिल लगवाने की बात भी कही जा रही हैं. पुलिस ने लोगों से भी नहर को पिकनिक स्पॉट ना मानकर यहां नहीं नहाने की अपील की हैं.