खेल परिसर व स्टेडियम खोलने की छूट, स्वीमिंग पूल रहेंगे बंद

  • प्रशासन ने स्टेडियम और खेल परिसराें में केवल खिलाड़ियों को प्रैक्टिस करने के लिए दी अनुमति

रोहतक. जिला प्रशासन की और से खेल परिसर व स्टेडियम को खोलने की अनुमति मंगलवार काे प्रदान कर दी गई। स्टेडियम और खेल परिसराें में खिलाड़ियों को प्रैक्टिस की छूट रहेगी। लेकिन दर्शकों का प्रवेश निषेध रहेगा। डीसी आरएस वर्मा ने बताया कि इस संबंध में खेल एवं युवा कल्याण विभाग की ओर से स्टेंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (एसओपी) अपनाना होगा। उन्होंने बताया कि खिलाड़ियों व खेल स्टाफ के लिए आरोग्य सेतु एप्लीकेशन का प्रयोग अनिवार्य रहेगा। थर्मल स्कैनिंग के जरिए जांच की जाएगी और इसका रिकार्ड भी रखना होगा। उन्होंने यह भी बताया कि किसी भी परिस्थिति में स्विमिंग पूल नहीं खोले जाएंगे।

किशोर खिलाड़ियों के लिए देनी होगी लिखित अनुमति
टीम मामले में अगर 18 खिलाड़ियों का समूह है और उसमें दो कोच है तो 1 घंटे का प्रशिक्षण होगा और जब यह समूह बाहर चला जाएगा तो उसके बाद ही खेल परिसर में दूसरा समूह प्रवेश कर सकेगा। सभी मेडिकल रूम के फर्नीचर को प्रातः 8:30 बजे से पहले सेनिटाइज किया जाएगा और इसके बाद 11:00 बजे फिर से सेनिटाइज किया जाएगा। डीसी ने बताया कि 18 वर्ष से कम आयु के खिलाड़ियों को उनके अभिभावकों की ओर से लिखित में अनुमति देनी होगी।

दूसरे के खेल सामान को न छुएं

स्टेडियम या खेल परिसर के अंदर प्रत्येक व्यक्ति को गाइडलाइन के मुताबिक नियमित रूप से अपने हाथों को सेनिटाइज करना होगा। सामाजिक दूरी के नार्म को अपनाना होगा । खेल के दौरान हाथ मिलान पर सख्ती से रोक रहेगी। धनुष, बंदूक, तलवार व भाला आदि खेल के सामान को दूसरा खिलाड़ी प्रयोग नहीं करेगा और पूरा खेल सामान कीटाणु रहित किया जाएगा। प्रशिक्षण का कार्य छोटे समूह में किया जाएगा और इसमें भी सामाजिक दूरी का विशेष ध्यान रखा जाएगा। प्रशिक्षणार्थियों को फ्री हैंड एक्सरसाइज और योगा के लिए भी प्रेरित किया जाएगा।