अपने उत्पादन में विविधता लाने की इच्छुक अमेरिकी कंपनियों के लिए हरियाणा उपयुक्त: निशा बिस्वाल

  • सीएम और संयुक्त राज्य अमेरिका भारत व्यापार परिषद की चेयरपर्सन की अध्यक्षता में वीसी से हुई बैठक

पानीपत. सीएम मनोहर लाल और संयुक्त राज्य अमेरिका भारत व्यापार परिषद की चेयरपर्सन निशा बिस्वाल की अध्यक्षता में बुधवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग हुई। इस दौरान घरेलू स्वास्थ्य देखभाल को बढ़ावा देने, ऑटोमोबाइल घटक विनिर्माण को एयरोस्पेस मशीनरी विनिर्माण में परिवर्तन करने और 5-जी, एज, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और गवर्नेंस व इंडस्ट्रियल मेन्युफैक्चरिंग में ब्लॉक-चेन जैसे क्षेत्रों की पहचान की गई, जिनमें आगे बढ़ने के काफी अवसर हैं।
बैठक में बोइंग, कोका कोला, बैक्सटर, वॉलमार्ट, स्ट्राइकर, मास्टर कार्ड, ट्रॉय कॉर्पोरेशन, जीई और इंटेल जैसी 60 से अधिक प्रमुख अमेरिकी कंपनियों के सीईओ, शीर्ष प्रबंधन प्रतिनिधियों ने भाग लिया। सीएम कहा कि पिछले दो माह से हम में से प्रत्येक ने एक ऐसे जीवन का अनुभव किया है, जिसमें लोकल और ग्लोबल के बीच का अंतर पूरी तरह से गायब हो गया है। हम सभी ने केवल आवश्यक वस्तुओं और सेवाओं के साथ घर से काम किया है और देखा है कि आर्थिक जीवन धीमा हो गया है। हमारा जीवन बिना यात्रा, दिनचर्या और मनोरंजन रहित हो गया है। सुरक्षित रहने और अपने प्रियजनों को सुरक्षित रखने की संतुष्टि है। अगर यह वायरस 20 साल पहले आता तो मानवीय अस्तित्व को बहुत ज्यादा खतरा हो सकता था।

3 माह में बनाए तीन विभाग

मार्च से मई तक हमने तीन नए विभाग बनाए जिनमें एमएसएमई, हाउसिंग फॉर ऑल और सिटीजन रिसोर्स इन्फोर्मेशन शामिल हैं। हमारी सरकार ने ज्यादा कीमती भूमि की चिंता को दूर करने के लिए लीज के आधार पर विनिर्माण इकाइयों के लिए भूमि आवंटन का एक नया निवेशक अनुकूल तत्व जोड़ा है। मुख्यमंत्री ने एचएसआईआईडीसी के एमडी अनुराग अग्रवाल को वच्र्युवल-वेब-डेस्क के माध्यम से उक्त कंपनियों से व्यक्तिगत तौर पर नियमित रूप से आगे की कार्रवाई के लिए संपर्क बनाए रखने की जिम्मेदारी सौंपी। उन्होंने निशा बिस्वाल को संयुक्त राज्य अमेरिका भारत व्यापार परिषद की ओर से किसी व्यक्ति को नियुक्त करने का सुझाव भी दिया। उन्होंने आश्वासन दिया कि आज की चर्चा के परिणाम स्वरूप हरियाणा में आने वाले सभी निवेशकों को हरियाणा सरकार द्वारा सुविधा प्रदान की जाएगी। यूएसआईबीसी की चेयरपर्सन निशा बिस्वाल ने कहा कि कोविड-19 के बाद दुनिया भर में अपने उत्पादन में विविधता लाने की इच्छुक अमेरिकी कंपनियों के विनिर्माण अड्डों की स्थापना के लिए हरियाणा सबसे उपयुक्त है।

वीसी में ये रहे शामिल
वीडियो कॉन्फ्रैंस में बोइंग के सलिल गुप्ते, महेश पलासीकर, जीई मैन्युफैक्चरिंग, प्रेसिडेंट और सीईओ साउथ एशिया, नितिन एट्रोली, केपीएमजी (सलाहकार) आधिकारिक प्रबंध भागीदार, निवृति राय, कंट्री हेड, इंटेल इंडिया, विवेक वशिष्ठ, लीड ऑपरेशंस आईबीएम ग्लोबल प्रोसेस सर्विसेज, नीलिमा द्विवेदी, माइक्रोसॉफ्ट कॉर्पोरेशन ग्रुप हेड, एड्रियन क्रिएगमैन, ट्रॉय कॉर्पोरेशन, निदेशक, उत्पाद पंजीकरण, मीनाक्षी, स्ट्राइकर, उपाध्यक्ष और प्रबंध निदेशक, अश्मिता सेठी यूटीसी इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, अध्यक्ष और देश प्रमुख, अनाम शर्मा, कोका-कोला इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, सौरभ सिंह, नोकिया सॉल्यूशंस एंड नेटवक्र्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, राकेश स्वामी, जीई हेल्थकेयर, सीनियर डायरेक्टर, आनंद विजय झा, वॉलमार्ट, उपाध्यक्ष और प्रमुख – सार्वजनिक नीति और संचार, रविंदर डांग महाप्रबंधक, बैक्सटर इंडिया, श्रीनाथ वेंकटेश, अध्यक्ष, डेनहर, भारत, मीनाक्षी नेवतिया, स्ट्राइकर वीपी और एमडी, पंकज भारद्वाज एवरी डेनिसन (विनिर्माण) वीपी एंड जनरल मैनेजर, पलाश रॉय चौधरी स्मार्टई (ई-वाहन) के अध्यक्ष और एमडी शामिल हुए।