22 मई को सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन

रोहतक. भवन निर्माण कारीगर मजदूर यूनियन के जिला प्रधान केसू काहनौर व जिला सचिव अजित समरगोपालपुर ने कहा कि सरकार कोरोना वायरस व लाॅकडाउन की आड़ लेकर मजदूरों का 8 घंटे से बढ़ाकर 12 घंटे प्रतिदिन कार्य दिवस करने, श्रम कानूनों को बदलने या सस्पेंड करने के आदेश, अध्यादेश पारित करती जा रही है। केन्द्र व राज्य सरकार के कर्मचारियों का डीए व डीआर फ्रीज करने के विरोध में एआईयूटीयूसी सहित देश की 10 बड़ी केंद्रीय ट्रेड यूनियन 22 मई को दिल्ली व सभी प्रदेश राजधानियों में विरोध जताएंगे। प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्रियों को ज्ञापन सौंपेंगे। प्रत्येक जिला व उपमंडल स्तर पर भी विरोध जताकर ज्ञापन दिए जाएंगे।