मजदूर दिवस पर एकत्रित किया 35 यूनिट रक्त

रोहतक. आपके साथ सामाजिक संस्था एवं जयकृति साहित्य फाउंडेशन की अाेर से विश्व मजदूर दिवस के उपलक्ष्य में साेमवार काे रक्तदान शिविर सुनारिया चौक पर लगाया गया। डॉ.गजेंद्र के निर्देशन में पीजीआईएमएस की टीम ने 35 यूनिट रक्त जुटाया गया। मुख्यातिथि नवीन जैन एवं विशिष्टातिथि अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी गुलशन शर्मा व गीतकार वीरेंद्र मधुर रहे। रक्तदाताओं को प्रशंसा पत्र, मास्क, ग्लब्स आदि देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम संयोजक एवं रक्तदाता मोटिवेटर जेपी गौड़ ने बताया कि कोविड-19 महामारी में मारे गए कोरोना वॉरियर एवं निर्दाेष मजदूरों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई। शिविर में सुंदर जेटली, सोनू प्रधान, जगत सिंह गिल, अश्वनी वशिष्ठ, हरीश पांचाल, सूरज पांचाल अनिल ढाका, आशु, विक्रम, संदीप, हितेन्द्र आदि ने विशेष सहयोग दिया।
पेट का यह प्रश्न है रोटी कमाऊं, ध्वस्त है धंधा उसे कैसे उठाऊं…
इस अवसर पर वीरेंद्र मधुर ने रचना पढ़ी कि भीड़ देखी चल पड़ा ठहरा नहीं हूं, सब सुनाई दे रहा बहरा नहीं हूं, पेट का यह प्रश्न है रोटी कमाऊं, ध्वस्त है धंधा उसे कैसे उठाऊं, है जवान बेटी और नन्हे शिशु, कौन सा कारण हमें समझा रहे हो, बताओ तो सही में कहां जा रहे हो सुनाकर वर्तमान हालात का चित्र खींचा। कवियत्री विजय लक्ष्मी ने कहा कि वर्तमान परिस्थितियों में हमारा प्रयास मजदूरों को मजबूर करना नहीं है। बल्कि उनका हौसला बढ़ाने की जरूरत है।