बच्चों के घरों तक पहुंचा 25 मई तक का आंगनबाड़ी पोषाहार : डीपीओ

  • कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए विभाग ने उठाया कदम, घर-घर जाकर आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने बच्चों तक पहंुचाया सूखा पोषाहार

रेवाड़ी. वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण की वजह से महिला एंव बाल विकास विभाग द्वारा लॉकडाउन के चलते आंगनबाड़ी केंद्रों में आने वाले बच्चों को पूरक पोषाहार नहीं मिल रहा है, इसके लिए विभाग ने 25 मई तक का सूखा पोषाहार घर-घर जाकर बच्चों को दिया है।
जिला कार्यक्रम अधिकारी संगीता यादव ने ये जानकारी दी। बताया कि जिले में करीब 1099 आंगनबाड़ी केंद्र है। जहां पर सैकड़ों बच्चे प्रतिदिन पोषाहार लेने आते थे। इन बच्चों के घरों में सूखा राशन बांटने की जिम्मेदारी करीब 1099 आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की लगाकर वितरण कर दिया है। आंगनबाड़ी केंद्रों के पूरक पोषाहार की रिपोर्ट भी मुख्यालय को भेज दी गई है।
पूरक पोषाहार में ये वस्तुएं हैं शामिल
आंगनबाड़ी कार्यकर्ता द्वारा घर-घर जाकर सोयाबीन, मूंगफली, मुरमुरा, भूना चना और चने की दाल के साथ सूखा पोषाहार बच्चों को दिया गया।