पुराने रजिस्टर्ड ईमेल व फोन नंबर का प्रयोग कर बदल सकेंगे आयकर रिटर्न का पासवर्ड

रोहतक. आयकर रिटर्न का पासवर्ड बदलने का तरीका बदल दिया है। अब केवल पुराने रजिस्टर्ड ईमेल व फोन नंबर का प्रयोग करके ही पासवर्ड बदल सकते हैं। जबकि पूर्व में नई ईमेल व फोन नंबर का प्रयोग करके पासवर्ड बदला जा सकता था। सरकार की ओर से पिछले कुछ माह में व्यवस्था बदले जाने के बाद से लगातार करदाताओं व आयकर सलाहकार को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। यह कहना है कि आयकर सलाहकार विजय मलिक, रमेश शर्मा, दिनेश गोस्वामी, करदाता सुमन, संजय रोहिल्ला, कुलदीप, आशीष दलाल का। उन्होंने सोमवार को बयान जारी कर कहा कि डिजिटल सिग्नेचर को बनवाने में करीब दो हजार रुपए का खर्च आता है, जो कि अनावश्यक तौर पर करदाता की जेब पर बोझ डालता है। आम तौर पर आयकर का भुगतान करने वाले करदाता अपने वकील या सीए के माध्यम से इनकम टैक्स का भुगतान करते हैं।
पहले आयकर दाता पांच प्रकार से बदल लेता था पासवर्ड : आयकर एवं जीएसटी अधिवक्ता अशोक जांगड़ा ने बताया कि आयकर रिटर्न भरते समय कई बार करदाता अपना पासवर्ड भूल जाते हैं क्योंकि यह रिटर्न साल में एक बार भरी जाती है। पहले आयकर रिटर्न भरते समय पासवर्ड भूल जाने पर पांच प्रकार से आधार ओटीपी दवारा (केवल मोबाइल से आधार लिंक हो तो) बदला जा सकता था। लेकिन अब यह व्यवस्था तीन माह पहले बदले जाने के बाद से लगातार परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।