किराए पर विवादित जमीन की जुताई करने गए युवक की हत्या, गंडासी व चाकू घोंपा

  • शेखपुरा जागीर के लोग बोले-दो भाइयों की लड़ाई में बेकसूर की हत्या

करनाल. करनाल के शेखपुरा जागीर गांव में दो पक्षों के जमीनी विवाद में किराए पर जमीन जोतने गए एक युवक की हत्या कर दी गई। युवक का सिर्फ इतना कसूर था कि वह जमीन जोतने गया था। इसी दौरान दूसरे पक्ष के लोग आ गए, जिनके साथ उसकी बहस हो गई। बहस इतनी बढ़ गई कि वे गंडासी, चाकू लेकर आ गए और उसे जख्मी कर दिया।
आनन-फानन में युवक को कल्पना चावला मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया, लेकिन हालत गंभीर होने की वजह से उसे चंडीगढ़ पीजीआई रेफर कर दिया गया। युवक अम्बाला तक भी नहीं पहुंच पाया, इससे पहले ही उसकी बीच रास्ते में मौत हो गई। सदर थाना पुलिस ने पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को शव सौंप दिया है और जल्द ही सभी आरोपियों को पकड़ने का आश्वासन भी दे दिया है। शेखपुरा जागीर गांव का युवक परमजीत (22) पड़ोसियों द्वारा जमीन जोतने के लिए कहने पर अपना ट्रैक्टर और कृषि यंत्र लेकर खेत में गया था। वह जिस जमीन को जोतने गया था, उस पर दो पक्ष (दो भाई भीम सिंह और जसमेर) का जमीनी विवाद चल रहा है। परमजीत जुताई कर रहा था कि अचानक से दूसरे पक्ष के भीम सिंह सहित अन्य लोग आ गए।
उन्होंने परमजीत से जुताई न करने के लिए कहा। इस बात पर परमजीत व दूसरे पक्ष के लोगों के बीच विवाद हो गया। आरोप है कि भीम सिंह, उसके दो लड़के और अन्य 5 से 6 युवक गंडासी व चाकू लेकर आ गए। उन्होंने परमजीत पर हमला कर दिया। इस हमले में परमजीत चाकू व गंडासी के वार से बुरी तरह जख्मी हो गया। इसके बाद आरोपी फरार हो गए। जसमेर ने बताया कि परमजीत का कोई कसूर नहीं था। वह तो मेरे खेत में किराए पर जुताई करने आया था। इस घटना के बाद गांव में तनाव का माहौल है। एहतियात के तौर पर गांव में पुलिस तैनात की गई है। सदर थाना के एसएचओ बलजीत सिंह का कहना है कि पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।
दो एकड़ जमीन पर चल रहा था विवाद
गांव शेखपुरा जाहगीर निवासी जसमेर ने बताया कि दो एकड़ जमीन का उसका भाई भीम के साथ विवाद चल रहा है। रविवार की शाम को उनके खेत की जुताई के लिए किराए पर परमजीत को बुलाया था। पिछले तीन साल से परमजीत ही खेतों को जोतता है। जब शाम को परमजीत खेत जोत रहा था तो उसके भाई भीम ने अपने लड़के राजेश, प्रवीन व सक्षम सहित अन्य के साथ मिलकर परमजीत पर गंडासी व चाकू से हमला कर दिया। उन्होंने परमजीत के सिर पर गंडासी से हमला किया और फिर पेट में चाकू घोंप दिया। सूचना मिलने पर जब वह खेत में पहुंचे तो आरोपी वहां से फरार हो गए।
वारदात के बाद गांव में मातम छा गया
मृतक परमजीत के चाचा के लड़के रामेश्वर ने बताया कि परमजीत किराए पर ट्रैक्टर से खेतों की जुताई करता था। इससे उनके घर का गुजारा होता था। वह जसमेर के खेत में गया था। जसमेर का अपने भाई भीम के साथ जमीन को लेकर झगड़ा था। इन दोनों भाइयों के झगड़े में बेकसूर परमजीत की हत्या कर दी गई। परमजीत घर में छोटा था और कुंवारा था। परमजीत का एक बड़ा भाई है वह भी कुंवारा है और उसके माता पिता है। परमजीत की हत्या की सूचना मिलने पर परिजनों को रो रो कर बुरा हाल है। पूरे गांव में वारदात के बाद मातम छा गया है।