रोक के बाद भी केएमपी पर सफर

बहादुरगढ़. केएमपी एक्सप्रेसवे पर सैकड़ों की तादाद में मजदूरों का चलना यूपी के औरेया जैसा हादसे को दावत दे सकता है। यहां हर दिन सैकड़ों की तादाद में मजदूर निकल रहे हैं। हाईवे से जाने पर हालांकि बॉर्डर तक पहुंचने के बाद अधिकतर को लौटा दिया जाता है, लेकिन वे फिर केएमपी एक्सप्रेसवे पर पहुंच जाते हैं व वहां से मजदूरों का चलना रुक नहीं रहा है। गृह मंत्रालय के आदेश के बाद इस पर पूरी तरह से अमल नहीं हो पा रहा है। ये हाल तो तब है जब हाल ही में कई हादसों में कई प्रवासियों की मौत हो चुकी है। सोनीपत, रोहतक व बहादुरगढ़ की तरफ अाने वाले केएमपी के रास्ते दिल्ली की ओर जाते हैं। कोई भी प्रवासी मजदूर रोड से अपने राज्यों की ओर न जाए। स्थानीय प्रशासन मजदूर को अपने जिले में ही रोके। मजदूरों को शेल्टर हाउस में रखकर खान-पान का प्रबंध करें।