मलेरिया का खतरा बढ़ा, स्वास्थ्य विभाग की टीम ने घर-घर जांच की

  • स्वास्थ्य विभाग की टीम ने बुपनिया में पानी से पैदा होने वाली बीमारियों से बचाव के बारे में लोगों को जानकारी दी

बहादुरगढ़. बादली सीएचसी की स्वास्थ्य टीम ने बुपनिया गांव का दौरा किया। गांव के दौरे में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने लोगों के घर-घर जाकर उनके लंबे समय से पानी से भरे बर्तनों की जांच की। लोगों को पानी से होने वाली बीमारियों के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी। स्वास्थ्य विभाग टीम की अध्यक्षता कर रहे हेल्थ इंस्पेक्टर रुपेश कुमार ने बताया कि सीएचसी की एसएमओ संगीता खुराना के आदेशानुसार गांव बुपनिया में स्वास्थ्य टीम द्वारा घर-घर जाकर पानी के बर्तनों की जांच की। उनके कूलर, पानी की टंकियां व अन्य ऐसे बर्तनों की जांच की जिनमें पानी काफी लंबे समय से भरा जा रहा है, लेकिन उनकी सफाई नहीं की जा रही है।

चेताया- लंबे समय तक बर्तनों में पानी नहीं रखें, लारवा मिलने पर होगी कार्रवाई

स्वास्थ्य विभाग की टीम ने पानी से भरे बर्तनों का निरीक्षण करते हुए घर के लोगों को उस में पनपने वाले लारवें के बारे में प्रैक्टिकल रूप से बताया। लोगों से आह्वान किया कि वह लगातार लंबे समय तक बर्तनों में पानी को नहीं रखें। सप्ताह में कम से कम एक या दो बार पानी के बर्तनों को अवश्य साफ करें, जिससे कि उसमें डेंगू और मलेरिया मच्छर का लारवा न पैदा हो सकें। हेल्थ इंस्पेक्टर रूपेश कुमार श्योराण ने इसके साथ-साथ लोगों को पानी से होने वाली बीमारियों के बारे में भी विस्तार पूर्वक जानकारी दी। इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग की टीम के अनुसार जिन घरों में डेंगू व मलेरिया का लारवा पाया गया उन लोगों को सख्त हिदायत दी गई कि अगर दोबारा इस प्रकार उनके घरों में लारवा मिला तो उन पर विभागीय कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। इसलिए बीमारी से बचने के लिए साफ-सफाई रखें।