प्रदेश सरकार आज जारी कर सकती है नई गाइडलाइन, कंटेनमेंट जोन को छोड़कर बाकी जगह व्यापार होगा शुरू

  • हरियाणा में कोरोना मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 910
  • हरियाणा सरकार ने सभी डीसी को दिए निर्देश

पानीपत. हरियाणा में लॉकडाउन फेज-4 का पहला दिन है। केंद्र सरकार ने नई गाइडलाइन जारी कर दी है। हरियाणा सरकार इस संबंध में सोमवार को प्रदेश के लिए गाइडलाइन जारी कर सकती है। हरियाणा सरकार कंटेनमेंट जोन को छोड़कर बाकि सभी जगह व्यापारिक गतिविधियां शुरू कर सकती है। इस संबंध में हरियाणा सरकार पीएम को भी सुझाव दे चुकी है।

चर्चा है कि हरियाणा में 100 फीसदी इंडस्ट्रीज चालू हो सकती है। इसके लिए सभी डीसी को तैयारी करने को कह दिया गया है। लॉकडाउन-4 में भी सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन किया जाएगा। हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज कह चुके हैं कि लॉकडाउन के चौथा चरण को बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों से वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से सुझाव मांगे थे, जिस पर हरियाणा ने कन्टेनमेंट जोन को छोडक़र अन्य क्षेत्रों में वाणिज्यिक गतिविधियां शुरू करने का सुझाव दिया था।

विज ने कहा इस संकट में हमें जिन्दगी भी बचानी है और व्यापार को भी बढ़ाना है। लॉकडाउन में ढील के साथ-साथ सख्त कानून बनाने की भी आवश्यकता है, जिस प्रकार से हेलमेट पहनना अनिवार्य है, उसी प्रकार मास्क पहनने के लिए कानून बनाया जाना चाहिए।

डीसी तय करेंगे सभी जोन

  • नए मानकों के मुताबिक हरियाणा के कई जिलों को ज्यादा छूट संभव है।

  • सब डिवीजन स्तर पर तय होंगे जोन। डीसी के पास निर्धारित करने की पावर।
  • अब डीसी ही रेड, ऑरेंज, ग्रीन, कंटेनमेंट और बफर जोन तय करेंगे।
  • राज्य में 250 कंटेनमेंट जोन हैं। 11 मई को 198 थे। एक सप्ताह में 52 बढ़े।
  • गुड़गांव, फरीदाबाद, सोनीपत व झज्जर क्रिटिकल जोन में आएंगे। यहां 37 से 100 एक्टिव केस हैं।

स्टेट परमिशन दें तो दूसरे राज्यों तक बसें चलाएंगे: मंत्री

हरियाणा राज्य परिवहन की बसों के संचालन के लिए भी तैयारी शुरू हो गई हैं। भले ही फिलहाल दो दर्जन के करीब बसें ही चली हैं, लेकिन दूसरे राज्यों में नहीं जा रही। चूंकि दिल्ली, चंडीगढ़, पंजाब, यूपी, राजस्थान व हिमाचल और उत्तराखंड में हरियाणा रोडवेज की बसें जाती हैं। इस कारण यात्रियों को बसों का इंतजार है। इस मामले में परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा का कहना है कि यदि पड़ोसी राज्य इजाजत देंगे तो बसें चलाई जाएंगी।

हरियाणा में मरीजों का आंकड़ा 910 पहुंचा

  • सबसे ज्यादा गुरुग्राम में 204, फरीदाबाद में 147, सोनीपत में 134, झज्जर में 90, नूंह में 65, अंबाला में 42, पलवल में 39, पानीपत में 38, पंचकूला में 25, जींद में 20, करनाल में 18, रोहतक में 12, रेवाड़ी में 9, सिरसा, फतेहाबाद, व यमुनानगर में 8-8, महेंद्रगढ़ में 7, भिवानी में 6, कैथल में 5, हिसार व चरखी-दादरी में 4-4, भिवानी, में 3 संक्रमित मरीज हैं। इसके अलावा, मेदांता अस्पताल गुड़गांव में 14 इटली के नागरिकों को भी भर्ती करवाया गया था, जिन्हें हरियाणा ने अपनी सूची में जोड़ा है।

  • प्रदेश में अब कुल 562 मरीज ठीक हो गए हैं। इनमें गुरुग्राम में 104, फरीदाबाद में 77, सोनीपत में 75, नूंह में 58, झज्जर में 53, अंबाला में 40, पलवल 36, पानीपत में 30, पंचकूला में 23, जींद में 15, करनाल में 9, यमुनानगर में 8, सिरसा में 6, भिवानी और हिसार में 3-3, कैथल, कुरुक्षेत्र, रोहतक में 2-2, चरखी दादरी, फतेहाबाद 1-1 मरीज ठीक होकर घर लौट चुका है। 14 मरीज इटली के भी ठीक हुए हैं।