धान पर पाबंदी लगाने को लेकर जल्द मुख्यमंत्री से मिल कराएंगे स्थिति से अवगत: कुलवंत बाजीगर

कैथल. गुहला चीका हलके का अधिकतर क्षेत्र बाढ़ की मार में आता है। धान की फसल कई दिनों तक पानी भरा रहने के बाद भी बच जाती है, इस लिए यहां के किसानों को धान की फसल उगाना मजबूरी है। इस बात से अवगत करवाने के लिए जल्द ही मुख्यमंत्री से भेंट कर उन्हें जमीनी हकीकत से वाकिफ करवाऊंगा। ये विचार पूर्व विधायक कुलवंत बाजीगर ने सरकार द्वारा धान की फसल की रोपाई पर लगाई गई पाबंदी पर प्रतिक्रिया देते हुए आज अपने निवास पर पत्रकारों से कहीं। बाजीगर ने कहा कि गुहला एक हिस्सा कलर की जमीन का है। इस कलर में भी दूसरी फसल पनप ही नहीं पाती, मजबूरी में किसान धान की रोपाई करते हैं। मौके पर उनके साथ मार्केट कमेटी के चेयरमैन जंगीर सिंह, पार्षद प्रदीप वर्र्मा, निनर्भय ओलख, वधावा राम भी उपस्थित रहे।