करीब 35 घंटे बाद बंद हो सकी टूटी हुई आवर्धन नहर, रांवर गांव में अब भी पानी खड़ा

  • करनाल जिले के रांवर, ऊंचा समाना व गंजौगढ़ी गांव के खेत भी जलमग्न
  • विधायक हरविंद्र कल्याण बोले- गांव में खड़े पानी को जल्द पम्पिंग सैट से निकाला जाएगा

करनाल. रविवार अलसुबह 4 बजे करनाल के रांवर गांव के पास टूटी आवर्धन नहर की करीब 35 घंटे बाद मरम्मत हो सकी। सिंचाई विभाग, ग्रामीणों व डेरा सच्चा सौदा के समर्थकों ने मिट्टी के कट्टों से अब इसे बंद कर दिया है। इस दौरान नहर में पानी को बंद रखा गया। नहर की भले ही मरम्मत हो गई हो लेकिन गांव रांवर में अब भी ज्यादातर घरों में पानी भरा हुआ है। इसके साथ-साथ रांवर, ऊंचा समाना व गंजौगढ़ी गांव के खेत भी जलमग्न है।

नहर टूटने के रांवर गांव में जलभराव की स्थिति अब भी बरकरार है। इससे काफी संख्या में गांववासी प्रभावित हुए हैं।

नहर टूटने के बाद से मरम्मत तक घटनास्थल पर मौजूद रहे घरौंडा विधायक हरविंद्र कल्याण का कहना है कि नहर की मरम्मत हो गई है। रांवर गांव में पानी भरा हुआ है। बाकि गांवों में अब जल भराव की कोई समस्या नहीं है। रांवर गांव में भी जल भराव को कम करने के लिए सिंचाई विभाग को निर्देश दे दिए गए हैं कि वे पम्पिंग सैट लगाकर पानी को बाहर निकालें।

रांवर गांव के साथ लगते दूसरे गांवों की जमीन भी पानी में डूबी हुई है। चारों तरफ पानी ही पानी नजर आ रहा है।

हालांकि हालात सामान्य होने में थोड़ा समय जरुर लगेगा। इसके साथ-साथ जिला उपायुक्त निशांत कुमार यादव से बातचीत की है। गांव में जिन-जिन इलाकों में जलभराव से नुकसान हुआ है, एक कमेटी बनाकर उसके नुकसान की एक रिपोर्ट बनाई जाएगी। इस रिपोर्ट को सरकार के पास भेजा जाएगा।
कल्याण ने कहा कि यह रिपोर्ट जब सरकार के पास चली जाएगी तो गांववालों की वे पूरी पैरवी करेंगे और उन्हें मुआवजा दिलवाने की कोशिश करेंगे।