आईसीएमआर की निगरानी में एप से आरटी पीसीआर सैंपल की होगी ऑनलाइन रिपोर्टिंग

  • सैंपल देने वाले व्यक्ति को आरोग्य सेतू एप भी करना होगा डाउनलोड

हिसार. आईसीएमआर ने रेपिड डाइग्नोस्टिक किट के बाद आरटी-पीसीआर सैंपल्स की मोबाइल एप से ऑनलाइन मॉनिटरिंग शुरू की है। इस एप से सैंपल लेने वाले डॉक्टर, लैब टेक्निशियन और सिटीजन जुड़ेंगे। इसका फायदा आमजन, कोविड संदिग्ध और इनफ्लूएंजा इलनेस रोगियों को होगा। इन्हें न तो सैंपल रिपोर्ट के लिए विभाग के चक्कर काटने हाेंगे, न ही किसी को फोन करने की जरूरत है। सैंपलिंग के वक्त मिलने वाली एक यूनिक आईडी के प्रयोग से रिपोर्ट मोबाइल स्क्रीन होगी। डिप्टी सिविल सर्जन डॉ. जया गोयल के निर्देशन में हेल्थ टीमों ने आरटी-पीसीआर एप मोबाइल में डाउनलोड करके उसमें परफोर्मा भरना शुरू कर दिया है।
जानिए… एप कैसे करेगा काम
1. सैंपल रिपोर्ट जानने के लिए स्मार्ट फोन में प्ले स्टोर से आरटी-पीसीआर एप डाउनलोड करना जरूरी है। हालांकि यह काम तभी करेगी जब आपने आरोग्य सेतू एप को डाउनलोड किया होगा। इसके बाद उक्त एप डाउनलोड करें। अधिकृत मोबाइल नंबर अंकित करने पर ओटीपी जारी होगा, जिसके प्रयोग से एप का इस्तेमाल कर सकेंगे।
2. हेल्थ टीम सैंपल लेने के बाद व्यक्ति का संपूर्ण डाटा एप के परफोर्मा में भरेगी। सैंपल देने वाले व्यक्ति को यूनिक कोड मिलेगा। 24 घंटे के भीतर वह एप में उक्त कोड को दर्ज करके अपनी रिपोर्ट जान सकेगा। अपलोड हुई है या नहीं, अगर हुई है तो क्या परिणाम है। बाकायदा पीडीएफ फाइल में विस्तार से डिटेल पढ़ सकेंगे।

यह होगा सबसे बड़ा फायदा
आरोग्य सेतू एप को डाउनलोड करने पर स्वास्थ्य मंत्रालय ने विशेष जोर दिया हुआ है। कारण, यह कि एप के जरिए हम पता कर सकते हैं कि कोविड से सुरक्षित हैैं या नहीं। इसके अलावा यह भी जान सकेंगे कि हमारे आसपास कोई कोरोना पॉजिटिव रोगी तो नहीं है। अगर है तो एप अलर्ट करेगी। वर्तमान व भविष्य के मद्देनजर एप का इस्तेमाल काफी फायदेमंद साबित होगा।