लॉकडाउन में जन्म व मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए रजिस्ट्रेशन न करवा सके लोगों को सरकार ने 31 मई तक का समय दिया

  • जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए 21 दिन के भीतर रजिस्ट्रेशन करवाना होता है जरूरी

कैथल. लॉकडाउन के दौरान जो लोग जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए रजिस्ट्रेशन नहीं करवा सके उनके लिए प्रदेश सरकार ने मई के अंत तक रजिस्ट्रेशन करवाने की छूट दी है। इस बारे में सभी नगर परिषद और पालिकाओं को पत्र जारी किए गए है। नगर परिषद के इनफार्मेशन असिस्टेंट नरेंद्र सैनी ने बताया कि जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए 21 दिनों के भीतर रजिस्ट्रेशन करवाना अनिवार्य होता है। उन्होंने बताया कि 21 दिन के बाद जन्म मृत्यु का रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए जिला रजिस्ट्रार की अनुमति लेनी होती है।
लेकिन इस समस्या को देखते हुए चीफ रजिस्ट्रार जन्म मृत्यु ने इस उस दौरान की सूचना को उचित अवधि में दी गई सूचना मानते हुए रजिस्ट्रेशन करवाने की अनुमति प्रदान की है। इससे उन लोगों को फायदा होगा जो लोग लॉकडाउन के दौरान जन्म व मृत्यु का रजिस्ट्रेशन नहीं करवा पाए थे। ऐसे लोग नगर परिषद या अपने संबंधित एरिया में प्रमाण पत्र बनवा सकते हैं।
नगर परिषद में प्रतिमाह 500 जन्म और 200 के करीब आवेदन मृत्यु प्रमाण पत्र के आवेदन आते हैं| नगर परिषद से मिली जानकारी के अनुसार परिषद में प्रति महीने करीब 500 आवेदन जन्म प्रमाण पत्र के लिए आते हैं । इसी प्रकार मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाने के लिए करीब करीब 200 आवेदन आते हैं। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि लॉक डॉउन के दौरान करीब 50 दिन का समय बिना काम के निकला है। इस दौरान करीब 1000 आवेदन जन्म प्रमाण और 400 मृत्यु प्रमाण पत्र के आवेदन नहीं हो पाए होंगे। जिससे काफी लोगों को परेशानी आ रही होगी।
वर्ष 2020 में जन्म दर बढ़ी, मृत्यु दर हुई कम
नगर परिषद से मिली जानकारी के अनुसार साल 2019 में मार्च महीने में 381 बच्चों ने जन्म लिया। जबकि अप्रैल माह में 388 बच्चों का जन्म हुआ। इसी प्रकार इसी साल की मृत्यु दर के बारे में बात करें तो वर्ष 2019 के मार्च महीने में 84 लोगों की मौत हुई। अप्रैल माह की बात करें तो 125 लोगों ने नगर परिषद के माध्यम से आवेदन करके मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाए। वर्ष 2020 के मार्च में कैथल नगर परिषद में 450 आवेदन जन्म प्रमाण पत्र के लिए आए। वही 91 लोगों ने मृत्यु प्रमाण पत्र के लिए आवेदन किया।

इसी प्रकार अप्रैल माह की बात करें तो इस दौरान नगर परिषद एरिया में 404 लोगों ने जन्म प्रमाण पत्र बनवाया। वही 107 मृत्यु प्रमाण पत्र भी बने। इससे साफ है कि वर्ष 2019 के मुकाबले वर्ष 2020 में मृत्यु दर काफी कम रही।