कोरोना महामारी के बीच सकारात्मकता से आगे बढ़ें, यही है अब जीवन कौशल

सोनीपत. सीबीएसई और एनसीईआरटी के तत्वावधान में लोकमार्ग फाउंडेशन द्वारा ‘जीवन कौशल के साथ कोरोना संग जीना’ विषय पर एक ऑनलाइन वेबिनार का किया गयाI वेबिनार के दौरान केविएस, सीबीएसई और एनसीईआरटी से जुड़े देश के प्रतिष्ठित परामर्शदाता छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों को जीवन कौशल के बारे में बताया ताकि सभी कोरोना महामारी लॉकडाउन तथा बाद की विकट परिस्थितियों का सकारात्मक रूप से सामना कर सकें।
वेबिनार के मुख्यातिथि केंद्रीय विद्यालय संगठन आगरा संभाग के उपायुक्त चन्द्र शेखर आज़ाद ने सभी छात्रों, शिक्षकों, परामर्शदाताओं तथा अभिभावकों का परिस्थितियों से निडर होकर तालमेल जोड़ने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि ऑनलाइन व्यवस्था पारंपरिक शिक्षण अधिगम का पूरक है, विकल्प नहीं। इसलिए सभी को अपने पढ़ने पढ़ाने के तौर तरीकों में बदलाव लाना होगा तथा छात्रों को खोजी प्रवृत्ति पैदा करना होगा।
शिक्षक अपने तौर तरीकों को रुचिकर बनाने के लिए नवोंमेंष्ण करें तथा ऑनलाइन प्लेटफार्म का इस प्रकार प्रयोग करें कि वह न सिर्फ़ सीखने सिखाने में लाभकारी हो बल्कि मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य के लिए हानिकारक भी ना हो। जब संसार में कुछ भी स्थायी नहीं है तो कोरोना महामारी का प्रकोप भी नियंत्रण में आ जाएगा और इसे नियंत्रित करने के लिए जीवन कौशल का सीखना बेहद आवश्यक है। उन्होंने जीवन कौशल के बारे में सरल तरीके से छात्रों को बताया। केन्द्रीय विद्यालय संगठन, सीबीएसई तथा एनसीईआरटी के परामर्श प्रदान करने के प्रयासों की सराहना की। सीबीएसई और एनसीईआरटी के पंजीकृत टेली काउंसलर तथा कार्यक्रम संयोजक राजेश वशिष्ठ केविएस गुरू तथा केवि शिक्षिका जसप्रीत कौर द्वारा सभी संस्थाओं के परामर्शदाताओं को एक मंच पर लाकर छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों की समस्याओं के निदान करने के नवोन्मेषी कदम तथा उनके एक्शन रिसर्च की प्रशंसा की। वेबिनार के दौरान छात्रों, अभिभावकों तथा शिक्षकों ने अपनी शंकाएं सांझा कर उनका निदान पाया। वेबिनार में बॉलीवुड कलाकार सतीश शर्मा तथा टीवी अदाकारा गीता सरोहा से छात्रों ने अभिनय में रोज़गार के बारे में जानकारी हासिल की। इस दौरान देश की मशहूर टैरो कार्ड रीडर अलंकृता ने भी अपने विचार रखे। वेबिनार में देश भर से 1500 छात्रों और 150 शिक्षकों ने अपने विचार सांझा किए।