4 दिन में ही खोल दी सब्जी मंडी, पहले 11 से 17 तक बंद रखने का किया था एलान

महेंद्रगढ़. जिले में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए 11 से 17 मई तक बंद की गई नारनौल सब्जी मंडी को 4 दिन बाद ही शुक्रवार को ही खोलकर सब्जी मंडी यूनियन बैकफुट पर आ गई है। हालांकि सब्जी मंडी यूनियन के पदाधिकारियों ने 3 दिन पहले मंडी खोलने के लिए स्थानीय किसानों की सब्जी खराब होने तथा रिटेल दुकानदारों द्वारा सब्जी के रेट बढ़ाने से आमजन की परेशानी का हवाला दिया है।
सब्जी मंडी यूनियन, नारनौल के प्रधान अजीत सैनी व सचिव हरिराम सैनी ने बताया कि जिले में कोरोना के एक के बाद एक पांच केस सामने आने पर यूनियन ने बैठक कर अपने, नगरवासियों तथा दूसरे लोगों के बचाव के लिए 11 से 17 मई तक एक सप्ताह के लिए नारनौल की सब्जी मंडी को बंद रखने का निर्णय लिया था, परंतु इस दौरान आमजन को सब्जी की कोई दिक्कत ना आए तथा स्थानीय किसानों की सब्जी खराब ना हो, इस बात को ध्यान में रखते हुए सब्जी के रिटेल दुकानदारों को अपनी दुकानें खोलने की छूट दी थी, परंतु चार दिन तक सब्जी मंडी बंद रखने के कारण स्थानीय किसानों को अपनी सब्जी बेचने में दिक्कत आने लगी, क्योंकि रिटेल दुकानदार शहर से चार से पांच किलोमीटर दूर जाकर खेतों से सब्जी लाने को तैयार नहीं थे और किसानों के पास बाजार में सब्जी लाकर बेचने के लिए कोई स्थान निर्धारित नहीं था।
जिसके परिणाम स्वरुप किसानों की सब्जी खराब होने लगी थी और रिटेल दुकानदारों ने सब्जी की कमी को देखते हुए रेटों में भारी बढ़ोतरी कर दी थी। परेशान किसानों
ने जब आढ़तियों को अपनी इस समस्या से अवगत करवाया तो यूनियन के पदाधिकारियों ने फोन पर आपसी विचार-विमर्श के बाद तीन दिन पहले ही सब्जी मंडी खोलने का निर्णय लिया।