1.63 लाख करोड़ रुपए के पैकेज से किसानों को मिलेगा लाभ : सीएम

  • कहा- लक्ष्यों को शीघ्र प्राप्त करने में मदद मिलेगी

पानीपत. सीएम मनोहर लाल ने केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा कृषि और संबद्ध क्षेत्रों के लिए घोषित 1.63 लाख करोड़ रुपए के प्रोत्साहन पैकेज का स्वागत िकया। उन्होंने कहा कि यह विशेष पैकेज हरियाणा के किसानों के लिए बहुत फायदेमंद साबित होगा। यह पैकेज कृषि और संबद्ध क्षेत्रों को मजबूत करने और राज्य के बजट में वर्ष 2020-21 के लिए निर्धारित किसानों की आय को दोगुना करने के लक्ष्य की प्राप्ति में मदद करेगा और राज्य के बजट में प्रस्तावित किसानों के कल्याण के लिए विभिन्न योजनाओं के लिए पिछले दो महीनों के संसाधन संकट को दूर करने में सरकार की मदद करेगा।

सीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना के तहत 20 हजार करोड़ रुपए, राष्ट्रीय पशु रोग नियंत्रण कार्यक्रम के लिए 13343 करोड़ रुपए का परिव्यय और डेयरी क्षेत्र के बुनियादी ढांचे को मजबूत करने की दिशा में 15 हजार करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है, इससे राज्य में मत्स्य और दूध की उत्पादकता में वृद्धि होगी। इस साल की शुरुआत में विधानसभा सत्र में उनके द्वारा दिए गए बजट भाषण के दौरान, उन्होंने कृषि एवं किसान कल्याण गतिविधियों के लिए 6481.48 करोड़ रुपए के बजट की घोषणा की थी। भारत सरकार ने कृषि क्षेत्र के उदारीकरण में संस्थागत सुधार लाने पर विशेष जोर दिया है, जिसमें किसानों को ई-ट्रेड तंत्र के माध्यम से उनकी इच्छानुसार कीमत पर अपनी उपज बेचने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। हरियाणा ने पहले ही इस दिशा में कई कदम उठाए हैं और 54 मंडियों को ई-नाम पोर्टल से जोड़ा गया है। पशुपालन और डेयरी विभाग 2883 पशु चिकित्सा संस्थानों के माध्यम से 89.98 लाख पशुधन के इलाज और प्रजनन की सुविधा प्रदान कर रहा है।

लाॅकडाउन-4 से पहले सरकार ने हरियाणा में अफसरों को बड़े स्तर पर दी जिम्मेदारी, नोडल अधिकारी किए नियुक्त
राजधानी हरियाणा | हरियाणा सरकार ने विभिन्न विभागों के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किए हैं, जो कोविड-19 के चलते लगाए गए लॉकडाउन के दौरान अपने संबंधित विभाग से जुड़े मुद्दों की जांच एवं निगरानी करेंगे। जरूरतमंद लोगों व झुग्गी वासियों तक भोजन के पैकेट पहुंचाना सुनिश्चित करने के लिए अतिरिक्त मुख्य सचिव विजयवर्धन को नोडल आॅफिसर नियुक्त किया गया है, इनके साथ अतिरिक्त मुख्य सचिव

एसएन राय व मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव योगेंद्र चौधरी की ड्यूटी लगाई गई है।
लॉकडाउन को लागू करने, आवश्यक स्टॉफ, सामान, सेवाओं, वाहनों के पास, ई-पास बनाने, आवाजाही, अंतर्राज्यीय सीमा मुद्दे, माइग्रेंट लेबर का अंतर्राज्यीय आवागमन आदि के लिए व दूसरे राज्यों के साथ समन्वय स्थापित करने के लिए अतिरिक्त मुख्य सचिव विजय वर्धन और गृह विभाग-एक के सचिव टी एल सत्यप्रकाश को जिम्मा सौंपा गया है।
पीके दास और संजीव कौशल को महत्वपूर्ण जिम्मेदारी : आवश्यक माल के सुचारू वितरण के लिए अतिरिक्त मुख्य सचिव पीके दास को नोडल आफिसर नियुक्त किया गया है। दूध, चावल, दाल व चीनी आदि की बेरोकटोक आपूर्ति व वितरण को सुनिश्चित करने के लिए अतिरिक्त मुख्य सचिव संजीव कौशल के साथ हरियाणा राज्य कृषि विपणन बोर्ड के मुख्य प्रशासक जे. गणेशन हैफेड की प्रबंध निदेशक आशिमा बराड़, डेयरी विकास सहकारी प्रसंघ के प्रबंध निदेशक ए. श्रीनिवास व आपदा प्रबंधन और स्वास्थ्य विभाग के कंट्रोल रूम से संबंधित गतिविधियों के लिए अतिरिक्त मुख्य सचिव टीसी गुप्ता व स्वर्ण जयंती हरियाणा इंस्टीच्यूट फोर फिसकल मैनेजमेंट के महानिदेशक विकास गुप्ता को नोडल आफिसर नियुक्त किया गया है।प्रेस से संबंधित जानकारी के लिए सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के निदेशक पीसी मीणा को, पशुधन के स्वास्थ्य व चारा आदि की मॉनिटरिंग के लिए प्रधान सचिव राजा शेखर वुंडरू को, डाटा मॉनिटरिंग के लिए पर्सनल एवं ट्रेनिंग विभाग के सचिव नितिन कुमार यादव को,लेबर से संबंधित मुद्दों के लिए प्रधान सचिव

विनीत गर्ग को नोडल आफिसर नियुक्त किया गया है।उद्योग एवं वाणिज्य के लिए साकेत कुमार को कमान
उद्योगों से संबंधित मुद्दों के लिए उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के निदेशक साकेत कुमार को, कृषि संबंधित मुद्दों के लिए अतिरिक्त मुख्य सचिव संजीव कौशल व कृषि विभाग के महानिदेशक विजय सिंह दहिया को, सामाजिक न्याय से संबंधित मुद्दों के लिए विभाग के प्रधान सचिव आनंद मोहन शरण को व ग्रामीण क्षेत्र से संबंधित मुद्दों के लिए प्रधान सचिव सुधीर राजपाल को नोडल आफिसर नियुक्त किया गया है। नगर निकायों से संबंधित मुद्दों के लिए अतिरिक्त मुख्य सचिव एसएन राय को व सामान्य प्रशासन से संबंधित मुद्दों के लिए प्रधान सचिव विजयेंद्र कुमार को नोडल आफिसर नियुक्त किया गया है।