हरियाणा में अब ठेके पर जमीन लेने वाला भी ले सकेगा लोन, जल्द एक्ट बनाएगी सरकार

  • सीएम मनोहर लाल खट्टर ने वीडियो संदेश जारी करते हुए की घोषणा
  • सीएम बोले- पशुपालकों व मछली पालने वालों के बनेंगे किसान क्रेडिट कार्ड

चंडीगढ़. हरियाणा में अब ठेके पर जमीन लेने वाले काश्तकार भी लोन ले सकेंगे। हरियाणा सरकार जल्द ही एक्ट में बदलाव करेगी, जिससे जमीन के मालिक को मलकियत का डर नहीं रहेगा। इसकी घोषणा हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने शनिवार को वीडियो संदेश जारी करते हुए की।

उन्होंने कहा कि पहले जिसके नाम जमीन होती थी, उसी को लोन मिलता था और उसी को किसान क्रेडिट कार्ड मिलता था। लेकिन अब ठेके पर जमीन लेने वाले काश्तकार भी लोन ले सकेंगे। गिरदावरी अगर काश्तकार के नाम हो जाती है तो जमीन के मालिक को मलकियत का डर नहीं होगा। इस संबंध में जल्द एक्ट बनाया जाएगा। इससे बड़ी संख्या में किसान व काश्तकारों को लाभ मिलेगा।

हरियाणा में मछली पालकों को मिलेगा पांच सौ करोड़ का लाभ

सीएम ने कहा कि केंद्र सरकार ने 20 लाख करोड़ रुपये के पैकेज की घोषणा की है। केंद्र सरकार ने मंडियों में इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलेप करने के लिए एक लाख करोड़ रुपए का प्रावधान किया है। केंद्र सरकार ने छोटे किसानों को मिलकर ग्रुप बनाकर अपनी फसलों की बिक्री के लिए विशेष पैकेज दिया है। सीएम ने कहा कि हरियाणा में ऐसे 500 एफपीओ हैं, अब इन्हें बढ़ाकर 1500 किया जाएगा।

मछली पालकों को भी पैकेज का मिलेगा लाभ

पीएम मत्स्य संपदा योजना के लिए 20 हजार करोड़ रुपए के पैकेज का प्रावधान किया गया है। हरियाणा के मछली पालकों को इससे लगभग 500 करोड़ रुपए का फायदा होगा। सीएम ने ऐलान किया कि प्रदेश में औद्योगिक विकास के लिए सभी 22 जिलों में कलस्टर बनाए गए हैं। केंद्र ने एमएसएमई सेक्टर को बढ़ावा देने के लिए 3 लाख करोड़ रुपए के पैकेज का ऐलान किया है।