बेजुबान पक्षियों की भूख मिटाने व प्यास बुझाने के लिए एबीवीपी ने चलाया अभियान, बांटे सकोरे

कुरुक्षेत्र. लॉकडाउन में आमजन घरों में कैद हैं। कभी लोगों की भीड़ से गुलजार रहने वाले सार्वजनिक स्थान अब सूने दिखते हैं। लोगों के सामने जहां रोजी रोटी तक का संकट गहराया हुआ है। ऐसे में बेजुबान पक्षियों व जानवरों को घूमने फिरने के लिए जगह तो खूब मिली। लेकिन बेसहारा जानवरों को भूख का भी सामना करना पड़ा रहा है। ऐसे में कई सामाजिक व धार्मिक संस्थाएं जानवरों की मदद को आगे भी आ रही हैं। इसी तरह अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद कुरुक्षेत्र इकाई और हम फाउंडेशन ने गांव सुनहेड़ी में बेजुबान पक्षियों की भूख मिटाने व प्यास बुझाने के लिए लोगों को सकोरे बांटे। साथ पेड़ों की शाखाओं पर भी सकोरे बांधने का अभियान चलाया। एबीवीपी के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य सुभाष कलसाना ने कहा कि पर्यावरण सरंक्षण को लेकर प्रत्येक जिले स्तर पर एबीवीपी के कार्यकर्ता पक्षियों को दाना-पानी मिलता रहे, पेड़ों की शाखाओं पर सकोरे बांधो और लोग अपने घर में बगीचे, छत, बालकनी में पक्षियों के लिए सकोरे रखे, सकोरे वितरण करने का कार्यक्रम चला रही है, क्योंकि मनुष्य तो पानी का संग्रहण कर लेता है पर गर्मी के मौसम में पक्षियों को दाना-पानी के लिए इधर-उधर भटकना पड़ता है। सकोरे में उनके लिए दाना-पानी रखकर उनकी जिंदगी बचा सकते हैं। मौके पर हम फाउंडेशन संजय चौधरी, एबीवीपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य सुभाष कलसाना, छात्र नेता गौरव सैनी , श्याम रावत, ईश्वर सुनहेड़ी,दिलावर साांगवाल, अमित पंडित ,सन्दीप सजूमा मौजूद रहे।
हम फाउंडेशन भी कर रहा सेवा| हम फाउंडेशन अध्यक्ष संजय चौधरी ने कहा कि पक्षी पर्यावरण का अहम हिस्सा है मूक प्राणियों की सेवा से बड़ी कोई सेवा नहीं है। अभियान में हम फाउंडेशन भी पूरा सहयोग कर रहा है। गांव सुनहेड़ी में पेड़ों की शाखाओं पर सकोरे बांधकर उनमें दाना-पानी डाला गया।