पूर्व विधायक जेजेपी नेता सतविंदर राणा के कहनेे पर ही पार्टनर सील गोदाम से शराब चुराकर गाड़ियों पर लोड कराता था, पांच राज्यों में की गई तस्करी

  • 4 साल पहले गोदाम सील होने के कुछ समय बाद ही शराब की होने लगी थी चोरी, अब तक राणा, ईश्वर समेत 7 गिरफ्तार लोगों से पूछताछ में 10 और लोगों के नाम आए सामने

पानीपत. समालखा में 4 साल पहले सील हुए एल-वन एबी गोदाम से करोड़ों रुपए की शराब चोरी के मामले में एसआईटी ने बड़ा खुलासा किया है। सीआईए 2 के इंचार्ज दीपक कुमार ने कहा कि गोदाम के मालिक आरोपी पूर्व विधायक जेजेपी नेता सतविंदर राणा के कहने पर ही उनका पार्टनर ईश्वर रात के समय शराब चुराकर गाड़ियां लोड करवाता था। चोरी का यह खेल गोदाम सील होने के कुछ समय बाद ही आरोपियों ने शुरू कर दिया था। आरोपियों ने करीब 4 सालों में 5 राज्यों में चोरी की शराब की तस्करी कराई है। अब तक राणा, ईश्वर समेत 7 लोग गिरफ्तार हो चुके हैं। इनसे पूछताछ में 10 और लोगों के नाम सामने आए हैं। इनमें से 5 इंटरस्टेट के हैं, जो यहां से शराब लेकर गए हैं। बाकी 5 लोकल के हैं। हालांकि एसआईटी ने इनके नामों का अभी खुलासा नहीं किया। वहीं 4 दिन की पुलिस रिमांड पर चल रहे सोनीपत के शामड़ी निवासी ईश्वर को सीआईए-2 ने समालखा कोर्ट में पेश किया। दो दिन का दोबारा रिमांड मांगा गया। कोर्ट ने ईश्वर को एक दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा है। आरोपी पूर्व विधायक पहले से दो दिन की रिमांड पर है।
इधर, डिप्टी सीएम बोले- राणा ने दी थी शिकायत, अभी उन्हें दोषी नहीं कह सकते
राजधानी हरियाणा |जजपा नेता एवं पूर्व विधायक सतविंद्र राणा की गिरफ्तारी पर डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला का कहना है कि यह मामला 2016 का है। तब राणा के शराब का लेबल अप्रूव न होने पर गोदाम सील किया गया था। मार्च में राणा ने एक्साइज डिपार्टमेंट को गोदाम से चोरी की शिकायत दी तो मामला पुलिस को सौंपा। इसमें ईश्वर सिंह को गिरफ्तार किया गया। चौटाला ने कहा कि अभी उसे दोषी नहीं कहा जा सकता। उन्हें तफ्तीश में शामिल किया गया है। पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा और इनेलो विधायक अभय चौटाला का नाम लिए बिना उन्होंने कहा कि वे बताएं कि उन पर कितनी एफआईआर हंै। जब भी कहीं मेरा या मेरा संगठन का नाम आता है तो लोग घेरने के लिए कूदने लगते हैं।
पूर्व विधायक से रिकॉर्ड बरामद
समालखा के गोदाम से चोरी मामले में पुलिस का खुलासा
जेपी ने लगाया था शराब तस्करी का आरोप : 2019 के विस चुनाव में सतविंदर राणा कलायत से जजपा प्रत्याशी थे। प्रचार के दौरान कांग्रेस प्रत्याशी पूर्व विधायक जेपी उर्फ जयप्रकाश ने राणा पर शराब तस्करी का आरोप लगाया था।
सतविंदर राणा
सिटिंग जज से कराएं जांच: राज्य सभा सांसद दीपेंद्र हुड्‌डा ने कहा कि मामले की जांच बड़ी एजेंसी या हाईकोर्ट के सिटिंग जज से होनी चाहिए। लॉकडाउन में पूरे प्रदेश में अवैध शराब बिक्री की जांच कर दोषी बड़े से बड़े शख्स पर कार्रवाई हो।
एसआईटी ने आरोपी पूर्व विधायक राणा को पंचकूला स्थित ऑफिस से केस से संबंधित िरकॉर्ड बरामद और पूछताछ के लिए रिमांड लिया था। रिमांड के दौरान आरोपी राणा ने पुलिस को केस से जुड़ा रिकॉर्ड बरामद कराया है। बरामद रिकॉर्ड के बारे मेें पूछताछ करने के लिए आरापी ईश्वर काे दोबारा पुलिस रिमांड मांगा गया। अब पुलिस दोनों को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ कर रही है।