पत्थरों से भरे ट्रक यमुना बांध के रास्ते की बजाए गांव से निकालने पर ग्रामीणों ने किया विरोध

  • गांव के अंदर से भारी वाहनों के तेज गति से आने-जाने से दुर्घटना घटित होने का है खतरा

पानीपत. जलमाना गांव में यमुना बांध पर बाढ़ नियंत्रण को लेकर डाले जा रहे पत्थरों के ट्रक किसानों की मलकीयत से जबरदस्ती निकालने पर ग्रामीणों ने इसका विरोध किया। प्रशासनिक अधिकारियों ने पुलिस बल बुलाकर ट्रकों को मलकियत से निकालने का प्रयास किया, लेकिन किसानों ने ट्रकों को जाने नही दिया। अधिकारियों ने किसानों को दबाने के लिए पुलिस को भी मौके पर बुलाया, लेकिन किसान नहीं माने। किसानों को कहा कि वो अपनी जमीन के कागजात दिखाएं नहीं तो उक्त जगह से ही पत्थरों से भरे ट्रक जाएंगे। किसानों ने अपने जमीन संबंधित कागजात दिखाए। इसके बाद विभागीय अधिकारी वापस लौट गए और उक्त पत्थरों से भरें ट्रकों को गांव के रास्ते से निकालने लगें।
एक्सईएन सुरेश सैनी का कहना है कि सभी आरोप निराधार हैं और ग्रामीणों ने गांव से बाहर के रास्ते को खोदकर बंद कर दिया है। उन्होंने पुलिस सहायता से मैन रास्ते से ही गाड़ियों को निकाल दिया है। अगर रास्ते को कोई नुकसान होता है तो वो रिपेयर करवा देंगे।