नोएडा में सिक्योरिटी गार्ड के रूप में तैनात था का पॉजिटिव बुजुर्ग,रिश्तेदार के साथ आया बडाला

  • रेड जोन से आया एक और कोरोना पॉजिटिव रोगी, स्वास्थ्य विभाग ने अग्रोहा करवाया भर्ती

हिसार. लॉक डाउन 3.0 में आवागमन की ढील के कारण रेड जोन राज्यों से काेरोना रोगी मिलने लगे हैं। हांसी के बडाला गांव में रहने वाला 57 वर्षीय सिक्योरिटी गार्ड है, जोकि सुप्रीम कोर्ट के वकील के नोएडा स्थित आवास पर तैनात था।
पीड़ित ने बताया कि 30 मार्च को वकील ने उसकी छुट्टी करते हुए कमरे में रहने के लिए कहा था। निर्देश दिया था कि कहीं भी बाहर आना-जाना नहीं है। इस दौरान परिजनों के बार-बार फोन आने लगे थे। उन्हें चिंता सताने लगी थी। ऐसे में अपने दिल्ली में रहने वाले रिश्तेदार से संपर्क किया था।
वह गाड़ी लेकर उसके पास आया था। 12 मई को गाड़ी में बैठकर दोनों ही बडाला गांव आए थे। 13 मई को दोनों ने स्वास्थ्य जांच व सैंपलिंग करवाई थी। वह गाड़ी लेकर वापस दिल्ली चला गया था। स्वास्थ्य विभाग ने मुझे अग्रोहा मेडिकल कॉलेज में दाखिल करवाया था। सैंपल की रिपोर्ट शनिवार को पॉजिटिव आई है। पीड़ित ने बताया कि वह गांव आने के बाद कहीं भी बाहर नहीं गया। घर में बच्चे, पत्नी समेत 4 सदस्य हैं। फिलहाल वे स्वस्थ हैं। हालांकि यह केस पूर्व मामलों की तरह हिसार में काउंट होगा या नहीं, इसको लेकर मुख्यालय को राय ली जाएगी। बता दें कि इससे पूर्व दिल्ली हेड क्वार्टर से हिसार बीएसएफ कैंप में हेड कांस्टेबल लौटा था जोकि कोरोना पॉजिटिव पाया था। इसके बाद मुंबई से ट्रांसपोर्टर फैमिली बड़ी सातरोड आई थी, जिनमें से मां-बेटा पॉजिटिव थे।
एनआरसीई लैब में182 की रिपोर्ट निगेटिव
एनआरसीई लैब से राहत की खबर है कि 182 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। वहीं, डेंटिस्ट डॉ. पुलकित, डॉ. रेणुका, एलटी अमित की टीम ने 62 सैंपल लिए। इनमें 12 सैंपल खरबला, 29 सैंपल हांसी, 21 सैंपल पीएचसी बास और 29 सैंपल सिविल अस्पताल हांसी में लिए हैं। इनमें काफी लोग दूसरे राज्यों से आए हुए थे। वहीं, डॉ. रवि चौहान और एलटी राकेश की टीम ने जिंदल पुल के पास मुंबई से लौटे महिला सहित तीन लोगों के सैंपल लिए हैं। फ्लू क्लीनिक में शाम 7 बजे तक 104 लोगों के सैंपल लिए थे।