जजपा नेता सतविंद्र राणा को कोर्ट ने भेजा जेल, जमानत पर अब 18 मई को होगी सुनवाई

  • जसविंद्र राणा के वकील ने रेगुलर बेल की अर्जी लगाई थी, उस पर सोमवार को सुनवाई
  • कोर्ट ने 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा, अब 30 मई को शराब चोरी मामले में सुनवाई

पानीपत (समालखा). समालखा के सील गोदाम से शराब चोरी के मामले में आरोपी जजपा नेता सतविंद्र सिंह राणा व ईश्वर सिंह को कोर्ट ने जेल भेज दिया है। सतविंद्र के वकील ने कोर्ट में जमानत की अर्जी लगाई थी लेकिन कोर्ट ने तत्काल सुनवाई नहीं की, जमानत पर सोमवार को सुनवाई हो सकती है। उनका कहना है कि इस मामले को राजनीतिक रंग देकर सतविंद्र राणा को फंसाया जा रहा है, जबकि उनका इससे कोई लेना देना नहीं है।

हरियाणा के पूर्व विधायक हैं जसविंद्र सिंह राणा। समालखा में 2016 में उनके नाम शराब गोदाम का टेंडर इश्यू हुआ था।

बता दें कि समालखा के शराब गोदाम को सील किए जाने के बाद भी उसमें शराब की पेटियां चोरी हो गई थी। इस मामले में पुलिस ने पूर्व विधायक व मौजूदा जजपा नेता सतविंद्र राणा को गिरफ्तार किया था। उसके साथ एक आरोपी ईश्वर सिंह को गिरफ्तार किया हुआ था। पुलिस ने इन्हें रिमांड पर ले रखा था। शनिवार को रिमांड पूरा होने पर कोर्ट में पेश किया गया था।

सतविंद्र राणा के वकील अशोक कादियान का कहना है कि इस मामले को राजनीतिक रंग दिया जा रहा है, सतविंद्र राणा का इससे कोई लेना देना नहीं है। उन्हें जबरदस्ती फंसाया जा रहा है।

शनिवार दोपहर में पुलिस सतविंद्र और ईश्वर को कोर्ट लेकर पहुंची थी। कोर्ट में सुनवाई हुआ और सतविंद्र राणा व ईश्वर को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया । वहीं सतविंद्र राणा के वकील अशोक कादियान का कहना है कि हमने जमानत के लिए कोर्ट में अर्जी दाखिल की थी। इस पर सोमवार को सुनवाई होगी। हमें इस मामले में जबरदस्ती फंसाया गया है और राजनीतिक रंग दिया गया है। हमारा इस केस से कोई लेना देना नहीं था। 2016 में हमारे नाम से टैंडर इश्यू हुआ था, 2017 में आबकारी विभाग ने गोदाम को सील कर दिया था। सरकार के अंडर गोदाम था, इसके बाद इसे संभालने की जिम्मेदारी सरकार की थी। बीती 28 तारीख को इस गोदाम में चोरी के संबंध में हमें फोन से सूचना मिली थी। हमने इसके बारे में आबकारी विभाग को एक मेल करके अवगत करवा दिया था। इसलिए हमारा कोई लेना देना नहीं है। जबरदस्ती राजनीतिक रंग देकर सतविंद्र राणा को फंसाया जा रहा है।