गीता मनीषी ज्ञानानंद महाराज के जन्मोत्सव पर सबको रोशनी फाउंडेशन ने थाने और चौकियों में बांटी गीता

  • वृंदावन ट्रस्ट के अध्यक्ष राकेश बंसल ने कहा कि महापुरुषों का जन्मदिवस सेवा रूप में भी मनाया जाता है

पानीपत. गीता मनीषी ज्ञानानंद महाराज के जन्मोत्सव पर सबको रोशनी फाउंडेशन वृंदावन ट्रस्ट में अनूठे ढंग से मनाते हुए दोनों संस्थाओं ने मिलकर विभिन्न थाने व चौकियों में गीता बांटी।
सबको रोशनी फाउंडेशन के संस्थापक संयोजक विकास गोयल व वृंदावन ट्रस्ट के अध्यक्ष राकेश बंसल ने कहा कि महापुरुषों का जन्मदिवस प्रकट दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसे सेवा रूप में भी मनाया जाता है। जनमानस का जन्मदिवस केवल परिवार जन मनाते हैं। अध्यक्ष सतवीर गोयल व कोषाध्यक्ष हरीश बंसल ने बताया कि जब अपराधी को थाने में लाया जाता है तो उसके मन की शक्ति विचलित होती है। कानून तो अपना काम कानूनी ढंग से करता है, लेकिन मन के विकार मनुष्य को कमजोर बनाते हैं। गीता मन को मनोबल देती है। इससे अधिक जन्मोत्सव को इस अनूठे तरह से मना कर एक नया संदेश देने की कोशिश की गई है। इस अवसर पर महामंडलेश्वर गीता मनीषी ज्ञानानंद महाराज द्वारा भेजा गया संदेश डिजिटल माध्यम से सभी सदस्यों को भी भेजा गया। इसमें बताया गया था कि दुर्योधन ने नारायणी सेना और नारायण में नारायणी सेना का चुनाव अपने पक्ष में किया। जबकि अर्जुन ने नारायण श्री कृष्ण भगवान जी को चुनाव व्यक्ति अपना लाभ हर जगह अपने दृष्टिकोण से देखता है। जबकि ईश्वर भक्ति से बड़ा कोई भी लाभ नहीं हो सकता हम जब अपना लाभ सोचे तो ठाकुर जी की कृपा को नजर अंदाज ना करें।