51 दिन बाद 10 जिलों से हरियाणा रोडवेज की 30 बसें चलीं, नई दिल्ली में रेलवे स्टेशन भी जाएंगी

  • हरियाणा में 824 पहुंचा कोरोना मरीजों का कुल आंकड़ा
  • हरियाणा में 439 मरीजों को मिल चुकी है अस्पताल से छुट्टी

पानीपत. हरियाणा में लॉकडाउन फेज-3 का 12वां दिन है। हरियाणा में परिवहन की रीढ़ कही जाने वाली हरियाणा रोडवेज 51 दिन बाद शुक्रवार को शुरू हो गई। 10 जिलों से हरियाणा रोडवेज की बसें रवाना हुई। पहले दिन 30 बसें चलाई जा रही हैं। पुलिस के कड़े पहरे के बीच बसों को अलग-अलग जगह से रवाना किया गया। चंडीगढ़ और दिल्ली के बीच फिलहाल बसें नहीं चलाई जाएंगी। बसों में प्री बुकिंग कराने वाले यात्रियों को ई-टिकट के जरिए ही प्रवेश मिला। पहले दिन अम्बाला, भिवानी, हिसार, कैथल, करनाल, नारनौल, पंचकूला, रेवाड़ी, रोहतक और सिरसा से बसें चलाई गई। रोडवेज की बसें नई दिल्ली रेलवे स्टेशन तक जाएंगी। परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा का कहना है कि दिल्ली में फंसे हरियाणा के लोगों को वापस लाएंगे, जो अपने जिले में जाना चाहते हैं या फिर अपने आवासीय जिले से नई दिल्ली रेलवे स्टेशन जाना चाहते हैं।

51 दिन के बाद हरियाणा रोडवेज की बसें यात्रियों के लिए सड़क पर रवाना हुई है।

हिसार में महिला ने कोरोना टेस्ट न कराने पर पति को अरेस्ट करवाया

पंजाब से हरियाणा के हिसार लौटे एक युवक को कोरोनावायरस का टेस्ट नहीं कराने पर उसकी पत्नी ने उसे लॉकडाउन का उल्लंघन करने के आरोप में गिरफ्तार करा दिया है। पुलिस ने बताया कि संदीप नाम का युवक पंजाब के तलवंडी साबो से लौटा था। उसकी पत्नी उर्मिला ने उसे सिविल अस्पताल में जाकर कोरोना की जांच कराने के लिए कहा। महिला का आरोप है कि इस पर संदीप ने उसे जान से मारने की धमकी दी और उसके साथ मारपीट की। पुलिस ने लॉकडाउन का उल्लंघन करने, मारपीट करने और जान से मारने की धमकी देने का मामला दर्ज कर संदीप को गिरफ्तार कर लिया है।

गुड़गांव की एसआरएल लैब की रिपोर्ट जांच में मिली गलत, स्वास्थ्य मंत्री बोले- कार्रवाई करेंगे

राज्य सरकार द्वारा कोरोना टेस्ट के लिए अधिकृत की गई प्राइवेट लैब एसआरएल की रिपोर्ट्स गलत थीं। यह जांच में पाया गया। इसकी पुष्टि हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने की है। उन्होंने कहा कि जांच कमेटी ने रिपोर्ट दी है कि एसआरएल लैब द्वारा जो टेस्ट किए जा रहे थे, उनकी रिपोर्ट गलत थी। इस लैब ने अम्बाला के 4 लोगों को रिपोर्ट में पॉजिटिव बताया था। बाद में 3 टेस्ट में उनकी रिपोर्ट निगेटिव मिली। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग ने लैब पर बैन लगाते हुए जांच बैठा दी थी। विज ने कहा कि कोरोना मे किसी की रिपोर्ट गलत आना बहुत घातक सिद्ध हो सकता है। किसी को कोरोना नहीं और उसे कोरोना पॉजिटिव करार दे दो तो वह कुछ भी कर सकता है। इसलिए मामले को हम बहुत गंभीरता से ले रहे हैं। जो एमओयू एसआरएल के साथ हुआ था उसका अध्यन कर रहे हैं, उसमें जो कार्रवाई के प्रावधान हैं, उसके तहत हम कार्रवाई करेंगे। आईसीएमआर को भी लिखेंगे कि वह इस लैब के खिलाफ कार्रवाई करे।

पुलिस के कड़े पहरे में 10 जिलों के बस अड्डों के बसें रवाना हुई हैं। कन्फर्म टिकट वाले यात्रियों को ही बस अड्डे में एंट्री दी गई थी।

जमातियों के खिलाफ दर्ज केस में गृह मंत्री ने मांगी स्टेटस रिपोर्ट

हरियाणा में दिल्ली के निजामुद्दीन तब्लीगी मरकज के साथ देश भर से आए जमातियों में कोरोना पॉजिटिव मिले सभी मरीज ठीक हो चुके हैं। उन्हें डिस्चार्ज भी कर दिया गया है। इनमें 107 जमाती विदेशी थे, जो यहां टूरिस्ट वीजा पर आए थे। लेकिन वे यहां दूसरा काम कर रहे थे। ऐसे में इनके खिलाफ केस दर्ज किए गए थे। अब इस मामले में गृह मंत्री अनिल विज ने डीजीपी से रिपोर्ट मांगी है। देश भर से हरियाणा में 1614 जमाती आए थे। इनमें 128 कोरोना पॉजिटिव मिले थे। 29 जमातियों के खिलाफ केस दर्ज किए थे। विज ने जिन जमातियों के खिलाफ केस दर्ज करने के आदेश दिए थे, अब उनकी स्टेटस रिपोर्ट मांगी है।

हरियाणा में मरीजों का आंकड़ा 824 पहुंचा

  • हरियाणा में अब तक गुड़गांव में 170, फरीदाबाद में 137, सोनीपत में 120, झज्जर में 87, नूंह में 60, अम्बाला में 42, पलवल में 37, पानीपत में 36, पंचकूला में 23, जींद में 20, करनाल में 17, यमुनानगर में 8, सिरसा, रोहतक और फतेहाबाद में 7-7, भिवानी, रेवाड़ी और महेंद्रगढ़ में 6-6, हिसार और चरखी दादरी में 4-4, कैथल और कुरुक्षेत्र में 3-3 पॉजिटिव मिले। इसके अलावा, मेदांता अस्पताल गुड़गांव में 14 इटली के नागरिकों को भी भर्ती करवाया गया था, जिन्हें हरियाणा ने अपनी सूची में जोड़ा है।

  • प्रदेश में अब कुल 439 मरीज ठीक हो गए हैं। सोनीपत में 64, फरीदाबाद में 62, गुड़गांव में 62, नूंह में 57, अम्बाला में 38, पलवल 35, झज्जर में 24, पानीपत में 24, पंचकूला में 18, जींद में 10, यमुनानगर में 8, करनाल में 5, सिरसा में 4, यमुनानगर, भिवानी और हिसार में 3-3, कैथल, कुरुक्षेत्र, रोहतक में 2-2, चरखी दादरी, फतेहाबाद 1-1 मरीज ठीक होने पर घर भेजा गया। 14 मरीज इटली के भी ठीक हुए हैं।