फतेहाबाद में कोठी खरीदना चाहता था तस्कर चीता गांव लंबी में खरीद चुका था ढाई करोड़ की जमीन

  • किराये पर मकान दिलाने वाले भाई के साढू और चीता को आमने सामने करके पूछताछ करेगी सदर थाना पुलिस

सिरसा. 532 किलो हेरोइन तस्करी मामले में पकड़े गए तस्कर चीता के बारे में जानकारी जुटाने के लिए सिरसा पुलिस उसके भाई गुरदीप के साढू गुरमीत सिंह को उसके पास ले जाकर पूछताछ करेगी। सिरसा एसपी डॉ. अरुण नेहरा ने इसके लिए डीएसपी के नेतृत्व में एक टीम गठित की है। उसे अमृतसर थाना में ले जाया जाएगा। दोनों को आमने सामने करके पूछताछ की जाएगी। सिरसा पुलिस ने चीता को मकान किराये पर दिलाने वाले गांव वेदवाला निवासी गुरमीत को पिछले पांच दिनों से रिमांड पर ले रखा है। वहीं एनआईए की पूछताछ में भी चीता ने सिरसा में एक्टिव नहीं रहने की बात कही है। पंजाब पुलिस ने रिमांड के दौरान चीता की निशानदेही पर दो किलो हेरोइन बरामद की है। जो उसने छिपा रखी थी।

लॉकडाउन में इरादे नहीं हुए कामयाब

पंजाब के तरनतारन गांव निवासी तस्कर रणजीत उर्फ चीता ने लॉकडाउन से पहले फतेहाबाद में कोठी खरीदने की प्लानिंग कर रखी थी। इसके लिए वो दो बार कोठी देखने भी गया था। जब तक उसके इरादे कामयाब होते उससे पहले लॉकडाउन लग गया और चीता कोठी नहीं खरीद सका। एसपी सिरसा डॉ. अरूण नेहरा ने बताया कि इससे पहले चीता ने गांव लंबी में भी ढाई करोड़ रुपये की जमीन खरीदी थी। चीता सिरसा में छुपकर ही रहता था। उसका भाई ही बाहर आता जाता था।

चीता की गिरफ्तारी से पुलिस अलर्ट, किरायेदारों का रिकाॅर्ड खंगाल रही

मोस्टवांटेड चीता सिरसा में छुपे रहने के बाद सिरसा पुलिस अलर्ट हो गई है। अब एसपी ने सिरसा में रहने वाले सभी किरायेदारों का डाटा एकत्रित करके उनका रिकार्ड खंगालने के आदेश दे रखे हैं। पुलिस सर्वे में जुटी हुई है। पहले शहर में सर्वे किया जा रहा है। बाद में गांव में भी किया जाएगा।